DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव 2019 : महराजगंज में जुमे पर मतदान के नाम होगी इबादत

मतदान के मामले में जिले को नंबर वन बनाना है। इसमें सभी सहयोग कर रहे हैं। जागरूकता के लिए खुद भी पहल कर रहे। ऐसे में भला मुस्लिम समाज कैसे पीछे रह सकता है। मतदाता जागरूकता के लिए यहां से भी ठोस पहल हुई है। बिसमिल्लाह हुआ है सिविल लाइंस के मदरसा जामिया रिजविया नुरूल उलूम से। यहां के मु. मोईनुद्दीन कादरी हर जुमे पर नमाज के बाद मतदाता जागरूकता के लिए तकरीर पेश कर मतदान का संकल्प भी दिलाएंगे। इसकी शुरुआत आज से ही होगी।

लोकतंत्र के महापर्व में भगीदारी के लिए मुस्लिम मतदाताओं को संकल्प दिलाया जाएगा कि वह 19 मई को सभी काम छोड़कर मतदान में शरीक होंगे। इसके लिए समाज के संभ्रांत लोगों की बकायदा सूची बनाई जा रही है। उन्हें जुमे के नमाज के पहले फोन कर सूचित किया जाएगा। जागरूकता कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की जाएगी।

दो हजार लोग एक साथ लेंगे मतदान की शपथ
लोकतंत्र के महापर्व में मदरसा जामिया रिजविया नुरूल उलूम में दो हजार से अधिक से लोग एक साथ मतदान की शपथ लेंगे। यहां जुमे के दिन नौतनवा, सोनौली, परतावल, श्यामदेउरवा, फरेंदा से भी लोग पहुंचते हैं। ऐसे में सभी को लोकतंत्र की मजबूती के लिए हाथ बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

गैर जिले के लोग भी होंगे शामिल
मदरसा जामिया रिजविया नुरूल उलूम जनपद मुख्यालय पर स्थित होने के कारण प्रमुख केंद्र है। ईद, बकरीद जैसे खास मौके पर हजारों लोगों की भीड़ मस्जिद और मदरसे में जुटती है। जुमे के खास मौके पर यहां सिद्धार्थनगर, गोरखपुर और कुशीनगर के सीमावर्ती क्षेत्रों के लोग भी तकरीर में शामिल होने के लिए पहुंचते हैं।

लोकतंत्र के महापर्व में मुसलमानों को आगे आकर अधिक से अधिक मतदान करना होगा। इससे लोकतंत्र को मजबूती मिलती है। जागरूकता से ही क्षेत्र का विकास होगा। जागरूकता के लिए हमने पहल की है। इसका सकारात्मक परिणाम सामने आएगा।- मु. मोईनुद्दीन कादरी, प्रधानाचार्य

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Worship on Juma will be on the name of voting on Election day in Mahrajganj