DA Image
2 अगस्त, 2020|5:50|IST

अगली स्टोरी

करना ही होगा इलाज, संक्रमित को रेफर नहीं कर सकेंगे

करना ही होगा इलाज, संक्रमित को रेफर नहीं कर सकेंगे

शहर के निजी अस्पताल अपने यहां भर्ती सामान्य मरीजों में कोरोना संक्रमण मिलने पर अब उन्हें रेफर नहीं कर सकेंगे। उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखकर उनका इलाज करना होगा। स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए निर्देश जारी किए हैं।

दरअसल, जिन 10 निजी अस्पतालों को स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए चुना था उनमें सभी तरह के मरीजों के लिए आवाजाही का रास्ता एक ही होने के कारण बाद में भर्ती पर रोक लगा दी गई थी। अब उन अस्पतालों में अगर कोई कोरोना का मरीज मिलता है, तो उन्हें आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर इलाज करना होगा लेकिन बाहर से आए मरीजों को भर्ती नहीं करेंगे। नोडल प्रभारी डॉ. एनके पांडेय ने बताया कि सभी 10 निजी अस्पतालों को निर्देश दिए गए हैं कि अगर इलाज के दौरान कोई संक्रमित मरीज मिलता है, तो उसका इलाज वहीं किया जाए। मरीजों को कही और रेफर न किया जाए।

इलाज के लिए खर्च करने होंगे रुपये

इन निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज निशुल्क नहीं होगा। मरीजों को इसके लिए भारी रकम खर्च करनी होगी। प्रशासन की ओर से तय की गई व्यवस्था के मुताबिक सामान्य मरीजों को आठ हजार और गंभीर मरीजों को प्रतिदिन 13 हजार रुपये शुल्क देने होंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Will have to be treated we will not be able to refer the infected