DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 साल में पहली बार लक्ष्य से ज्यादा हुई गेहूं खरीद

1 / 2 गेहूं की खरीद

Truck, owner, four, day, extra

2 / 2 गेहूं की खरीद

PreviousNext

पांच साल बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि गेहूं की खरीद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर ने लक्ष्य से ज्यादा खरीद की है। इसके पूर्व 2012 में लक्ष्य के मुकाबले 144 फीसदी गेहूं की खरीद की गई थी। 
गोरखपुर जनपद में गेहूं खरीद के लिए 146 क्रय केंद्र के माध्यम से 94 हजार एमटी गेहूं खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। लक्ष्य के मुकाबले 30 मई तक 94530.06 एमटी गेहूं की खरीद की गई। यह निर्धारित लक्ष्य का 100.56 फीसदी है। यह खरीद जनपद के 18964 किसानों से की गई। किसानों को अब तक 14760.27 लाख रुपये का भुगतान हुआ। किसानों को शेष 1659.09 लाख रुपये भुगतान किया जाना है।


किस साल कितनी हुई खरीद
साल        लक्ष्य        खरीद            प्रतिशत

2012-13    79674     115155.00        144 फीसदी
2013-14    137300    015457.54        11.25 फीसदी
2014-15    103018    002100.00        02.03 फीसदी
2015-16     73000    024991.00        34.23 फीसदी
2016-17    110500    007353.00        00.66 फीसदी
2017-18    138500    055917.00        40.37 फीसदी
2018-19    94000    094530.06        100.56 फीसदी
(गेहूं की खरीद एमटी में)

किसानों की आय दोगुना करने की कोशिशों का नतीजा
‘‘प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री दोनों किसानों की आय को बढ़ाने के लिए कल्याणकारी योजनाओं के साथ निरंतर जरूरी कदम उठा रहें है। इसी क्रम में धान और गेहूं खरीद की आनलाइन और पारदर्शी प्रक्रिया का अनुपालन सुनिश्चित किया गया। क्रय केंद्रों पर किसानों को गेहूं खरीदा नहीं जाता था, खरीदा गया तो भुगतान के लिए चक्कर काटने पड़ते थे। धान खरीद भी लक्ष्य से अधिक किया गया था, इस बार गन्ने की भी रिकार्ड पेराई हुई है। सरकार किसानों की आय दो गुना करने के लक्ष्य की तरफ बढ़ रही है।’’
डा. राधा मोहन दास अग्रवाल

इन वजहों से बढ़ी गेहूं की सरकारी खरीद
‘‘आनलाइन एवं पारदर्शी गेहूं खरीद की प्रक्रिया का सख्ती से अनुपालन करने के साथ किसानों को पंजीकरण के लिए प्रेरित किया गया। शासन और जिला स्तर पर नियमित निगरानी की गई। किसानों के खाते में आरटीजीएस के माध्यम से 24 से 48 घंटे में गेहूं की रकम का भुगतान सुनिश्चित कराया गया। बोरों की उपलब्धता एवं क्रय केंद्रों की निगरानी एवं अच्छी उपज से भी लक्ष्य की प्राप्ति सहज हुई।’’
राकेश मोहन पाण्डेय, जिला विपणन अधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Wheat procurement more than target for first time in 5 years