DA Image
22 सितम्बर, 2020|7:47|IST

अगली स्टोरी

शेड्यूल वन श्रेणी के कछुएं बेचते दो एक्वेरियम शॉप संचालक गिरफ्तार

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के गोरखपुर वन प्रभाग ने मंगलवार को शहर के विजय चौक स्थित दो एक्वेरियम शॉप पर छापेमारी कर 32 कछुए बरामद किए। बरामद कछुएं में शेड्यूल वन श्रेणी के 9 कछुएं मिले जिन्हें 1100 रुपये में बेचा जा रहा था। शेष 24 कछुए 250 से 300 रुपये की कीमत पर बेचा जा रहा था। इस मामले में गिरफ्तार दोनों एक्वेरियम शॉप के संचालक को मौके पर गिरफ्तार कर सीजेएम कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया। सभी आरोपियों के खिलाफ भारतीय वन्यजीव अधिनियम की धारा 1972 की धारा 9, 39, 51 के अंतर्गत एफआईआर दर्ज की गई है। 

विजय चौक स्थित एरवाना एक्वेरियम एवं स्टार फिश एक्वेरियम से हो रहा था कछुएं बेचने का कारोबार
दोनों के संचालकों को मौके से वन विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने गिरफ्तार किया

डीएफओ अविनाश कुमार को कई दिनों से शिकायत मिल रही थी शहर के विजय चौक स्थित दो एक्वेरियम से प्रतिबंधित श्रेणी के कछुए की खरीद फरोख्त की जा रही है। सूचना पर उन्होंने गुरुवार को वन दरोगा विजय शुक्ला, वन दरोगा विधि नारायण वर्मा से दोनों शॉप कर स्टिंग कराया। दोनों शॉप के संचालकों ने वन विभाग के कर्मचारियों की मांग पर कछुए उपलब्ध करा दिए। इंडियन रुफ टर्टल को प्रतिबंधित श्रेणी का बताते हुए दोनों ने 1100 से 1200 रुपये तक डिमांड किया। जबकि इंडियन टेण्ट टर्टल के 250 से 300 रुपये की मांग की। मांग के हिसाब से उन्होंने छोटे और बड़े दोनों ही श्रेणी के कछुए उपलब्ध कराने का दावा किया। इस स्टिंग के बाद मंगलवार को डीएफओ ने छापे के लिए टीम तैयार कर छापेमारी के निर्देश दिए। शहीद अशफाक उल्लाह खॉ प्राणि उद्यान के पशु चिकित्सक डॉ योगेश प्रताप सिंह ने दोनों कछुएं की प्रजातियों की शिनाख्त की। उसके बाद उन्हें सुरक्षित शहर के वेटलैंड में छोड़ दिया गया। फिलहाल वन विभाग दोनों आरोपियों की मदद से कछुए की आपूर्ति करने वालों तक पहुंचने की कोशिश में जुटा है।

32 इंडियन रुफ टेंट टर्टल और इंडियन टेंट टर्टल मिले
विजय चौक स्थित एरवाना एक्वेरियम से 6 इंडियन टेंट टर्टल और 4 इंडियन रुफ टेंट टर्टल बरामद किए। इस शॉप के संचालक धीरेंद्र निवासी पुराना गोरखपुर गोरखनाथ को गिरफ्तार कर लिया। दूसरी शॉप स्टार फिश से 18 इंडियन टेण्ट टर्टल और 5 इंडियन रुफ टेंट टर्टल बरामद करते हुए शॉप के संचालक मोहम्मद सलीम निवासी पिपरापुर बहरामपुर थाना तिवारी पुर को गिरफ्तार किया। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारीय क्षेत्र वन अधिकारी गोपाल कुमार, वन दरोगा विजय शुक्ला, वन दरोगा महेंद्र प्रताप सिंह, वन दरोगा विधि नारायण वर्मा, वन रक्षक महेश साहनी, सुरेंद्र कुमार एवं रामनिवास वाहन चालक ने आरोपियों को पकड़ा। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी, सरकारी अधिकारी और कर्मचारी भी उनके यहां से प्रतिबंधित श्रेणी के कछुओं की डिमांड करते एवं महंगी कीमत पर खरीद कर ले जाते थे।

‘‘प्रतिबंधित श्रेणी के कछुओं को क्रूर ढंग से रखा गया था। बकायदा 1200 रुपये से 250 रुपये तक में बिक्री की जा रही थी। वन्यजीव की खरीद फरोख्त करना जुर्म है। पकड़े गए आरोपियों की दोष सिद्ध होने पर न्यूनतम तीन साल और अधिकतम 7 साल की सजा हो सकती है। लोगों को चाहिए कि वन्य जीव की न बिक्री करे न ही खरीद करें। दोनों शॉप में मछलियां होने के कारण उन्हें सील नहीं किया गया।’’
अविनाश कुमार, डीएफओ गोरखपुर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two Aquarium shop operators arrested for selling schedule one category turtles