ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुरगोरखपुर में कान्हा उपवन की बेशकीमती जमीन पर फिर कब्जे की कोशिश

गोरखपुर में कान्हा उपवन की बेशकीमती जमीन पर फिर कब्जे की कोशिश

गोरखपुर के महेवा वार्ड स्थित कान्हा उपवन की बेशकीमती जमीन पर एक बार फिर अवांछित तत्वों द्वारा कब्जा करने की कोशिश हुई। दिवाली के दिन कुछ लोगों ने जमीन के एक हिस्से पर दीवार चलानी शुरू कर दी। सूचना...

गोरखपुर में कान्हा उपवन की बेशकीमती जमीन पर फिर कब्जे की कोशिश
हिन्‍दुस्‍तान टीम ,गोरखपुरMon, 16 Nov 2020 10:51 PM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर के महेवा वार्ड स्थित कान्हा उपवन की बेशकीमती जमीन पर एक बार फिर अवांछित तत्वों द्वारा कब्जा करने की कोशिश हुई। दिवाली के दिन कुछ लोगों ने जमीन के एक हिस्से पर दीवार चलानी शुरू कर दी। सूचना मिलने पर पूर्व उपसभापति बृजेश सिंह छोटू भी पहुंच गए। उनकी सूचना पर नगर आयुक्त अंजनी कुमार सिंह ने प्रवर्तन बल और राजस्व टीम को मौके पर भेजा। नगर आयुक्त के निर्देश पर निर्माण को जेसीबी से गिरा दिया गया। इसके पहले जमीन पर कब्जे का आरोप स्थानीय भाजपा पार्षद रामभुआल कुशवाहा पर लगा था। उन्होंने किसी प्रकार के कब्जे की कोशिश से इंकार कर दिया है। 

नगर निगम की जमीन पर बने कान्हा उपवन में पशुओं को रखने के लिए यहां दो बड़े शेड बनाए गए हैं। 700 क्षमता वाले कान्हा उपवन में वर्तमान में 1000 से अधिक पशु हैं। दीपावली के दिन शनिवार को कुछ लोगों ने कान्हा उपवन के पिछले हिस्से की खाली जमीन को अपना बनाते हुए दीवार चलानी शुरू कर दी। स्थानीय लोगों ने विरोध किया तो वह खुद की जमीन होने का कागज दिखाने लगे। इसकी सूचना कान्हा उपवन पर निगरानी रखने वाले पार्षद छोटू सिंह को हुई। उन्होंने इसकी सूचना नगर आयुक्त को दी। उनकी सूचना पर नगर आयुक्त ने अवैध कब्जे को लेकर प्रभावी कार्रवाई के लिए प्रवर्तन टीम को भेजा। इसके बाद अवैध निर्माण को जेसीबी से गिरा दिया गया। नगर आयुक्त अंजनी कुमार सिंह का कहना है कि कान्हा उपवन के पिछले हिस्से में निर्माण की शिकायत के बाद मौके पर गया था। प्रवर्तन टीम ने जेसीबी से निर्माण गिरा दिया है।

भाजपा पार्षद पर लग चुका है कब्जे का आरोप
कान्हा उपवन जमीन पर इससे पहले भी कब्जा की कोशिश हो चुकी है। तब महेवा वार्ड के पार्षद रामभुआल कुशवाहा पर आरोप लगे थे। फिलहाल मामला कोर्ट पर चल रहा है। पार्षद रामभुआल कुशवाहा ने किसी भी कब्जे की कोशिश से पल्ला झाड़ा है। उनका कहना है कि मामले में उनके पक्ष में कोर्ट का स्टे है। ऐसे में वे क्यो कब्जे की कोशिश करेंगे। नगर निगम को अपने हिस्से की जमीन की रखवाली करनी चाहिए। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें