DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर की नंदिनी जालान छात्राओं में टॉपर, ईशान को 16 वीं रैंक

गोरखपुर के होनहारों ने यूपीएसईई (प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों की संयुक्त प्रवेश परीक्षा) की परीक्षा में परचम लहराया है। शहर की नंदिनी जालान ने छात्राओं में टॉप किया है। ईशान सिंह को प्रदेश भर में 16 वीं रैंक मिली है। गोरखपुर से सफल अभ्यर्थियों में वह टॉप पर हैं।

शाबास
एकेटीयू प्रवेश परीक्षा में भी शहर की प्रतिभाओं ने लहराया परचम
प्रदेश के ओवरऑल रिजल्ट में नंदिनी को आठवीं पोजीशन

शहर के हरिहर प्रसाद दूबे मार्ग स्थित अंबेश्वरी पैराडाइज में रहने वाले ऑटो पार्ट्स के कारोबारी अभिषेक जालान की बेटी नंदिनी को प्रदेश भर की ओवरऑल रैंकिंग में आठवीं रैंक मिली हैं। जबकि छात्राओं में उन्होंने टॉप किया है। ईशान सिंह रेल विहार फेज दो के निवासी हैं। उनके पिता राजेश कुमार सिंह एनई रेलवे के निर्माण संगठन में अधिशाषी अभियंता हैं। मां अर्चना सिंह एलआईसी में एडीओ हैं। दोनों ने जेईई एडवांस की परीक्षा भी दे रखी है। रिजल्ट का इंतजार करने के बाद ही एकेटीयू में प्रवेश पर निर्णय होगा। प्राथिमकता आईआईटी होगी।
13144 ने दी थी एकेटीयू की परीक्षा
डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी से संबद्ध इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेजों में दाखिले के लिए 29 अप्रैल को प्रवेश परीक्षा हुई थी। गोरखपुर, बस्ती, देवरिया और कुशीनगर जनपदों में पंजीकृत कुल 13,144 अभ्यर्थियों के लिए 14 परीक्षा केंद्र निर्धारित किए गए थे। बीटेक, बीफॉर्मा, बीटेक बायोटेक्नोलॉजी, बीटेक एग्रीकल्चर व बीआर्क कोर्स में दाखिले के लिए दो पालियों में हुई इस परीक्षा में करीब 92 फीसदी उपस्थित रहे थे।

इंजीनियरिंग के बाद आईएएस बनना चाहती हैं नंदिनी 
 उत्तर प्रदेश राज्य प्रवेश परीक्षा (यूपीएसईई)- 2018 में शहर की बेटी नंदिनी जालान ने प्रदेश में आठवां और लड़कियों में टॉप किया है। उनका सपना आईआईटी से इंजीनियरिंग करने का है। इंजीनियरिंग के बाद वह सिविल सेवा परीक्षा की तैयारियों में जुटेंगी। उन्हें जेईई एडवांस के रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार है। नंदिनी ने बताया कि हर असफलता एक सबक देती है, जिसने इस सबक को करीब से जान लिया, उसे देर सबेर सफलता मिलती जरूर है।
 अंबेश्वरी पैराडाइज में बिजनेसमैन पिता अभिषेक जालान के साथ रहने वाली नंदिनी ने बताया कि वर्ष-2017 में उन्होंने सरामाउंट से सीबीएसई बोर्ड से इंटर की परीक्षा 95 फीसदी अंकों के साथ पास की थी। पिछले साल जेईई एडवांस और यूपीएसईई में अपेक्षाकृत रिजल्ट नहीं मिला। उन्होंने हार मानने की बजाय फिर से तैयारी शुरू की और इस बार जेईई मेन में उन्हें 1604 रैंक मिली। यूपीएसईई में लड़कियों में प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया है। उन्हें एमएमएमयूटी की प्रवेश परीक्षा में टॉप करने का भरोसा था मगर उसमें 12 वीं रैंक मिली है। नंदिनी ने बताया कि लड़कियों के लिए हमेशा मेडिकल, रेलवे, टीचिंग या बैकिंग सेक्टर को ही अच्छा माना जाता है। इस वजह से इंजीनियरिंग के क्षेत्र में लड़कियां चाहकर भी आगे नहीं बढ़ पाती हैं। इंजीनियरिंग क्षेत्र में लड़कियां बेहतर कर सकती है, इस मामले में थोड़ी खुशनसीब हूं कि घरवालों से मुझे पूरा सर्पोट मिला। नंदिनी परिवार की बड़ी बेटी हैं। छोटा भाई इंटर में हैं और उसे भी इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जाना है। 

आईआईटी से इंजीनियरिंग कर देश सेवा करूंगा-ईशान सिंह


यूपीएसईई में प्रदेश में 16 वीं रैंक व गोरखपुर के टॉपर ईशान सिंह ने बताया कि वह आईआईटी से इंजीनियरिंग कर देश सेवा करना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि संचार क्रांति के इस दौर में कंप्यूटर साइंस का क्षेत्र ऐसा है, जिसमें बहुत कुछ नया करने की गुंजाइश है। उन्होंने सरामाउंट इंटरनेशनल स्कूल तारामंडल से 12 वीं की परीक्षा इसी साल 94.6 फीसदी अंकों के साथ पास की है। 
जेईई एडवांस की परीक्षा देने के बाद वह उसके रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। एमएमएमयूटी की प्रवेश परीक्षा में उनकी 9 वीं रैंक है। उन्होंने किशार वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना व राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा भी पास की है। उन्हें फुटबाल खेलना पसंद है। अपने भविष्य की योजनाओं के बारे में उन्होंने बताया कि वह इंजीनियर बनकर देश सेवा करना चाहते हैं। इंजीनियर बनने की प्रेरणा उन्हें पिता से मिली है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Topper in Nandini Jalan of the city Ishaan ranked 16th