DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानों के सम्‍मेलन में आएंगे योगी, दे सकते हैं ये तोहफे 

सीएम योगी

गोरखपुर में 29 जनवरी को होने वाले ग्राम प्रधानों के एक दिवसीय सम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आएंगे। ऐसे में सम्मेलन के आयोजक राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन उत्तर प्रदेश के पदाधिकारियों को उम्मीद है कि मुख्यमंत्री, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की तरह उदारता दिखाते हुए 73वां संविधान संशोधन के आलोक में 32 विभागों में कुछ को पंचायती राज संस्थाओं को हस्तान्तरित करने की घोषणा कर सकते हैं। 

उनकी यह उम्मीद इसलिए भी है कि क्योंकि विधानसभा चुनाव के पूर्व 17 अक्तूबर 2016 को आयोजित मण्डलीय सम्मेलन में केंद्रीय ग्रामीण विकास, स्वच्छता, पेयजल एवं पंचायती राज्यमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की मौजूदगी में तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ ने ग्राम प्रधानों की इस मांग का पुरजोर समर्थन किया था। 

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह एवं राजनाथ सिंह ने दी शक्तियां
प्रदेश में पंचायती राज व्यवस्था में ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत आते हैं। 73वां संविधान संशोधन में सुनियोजित पंचायती राज व्यवस्था स्थापित हुई। वर्ष 1995 में विकेन्द्रीकरण एवं प्रशासनिक सुधार आयोग बना। इस आयोग की संस्तुतियों पर तत्कालीन कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय समिति (एचपीसी) ने वर्ष 1997 में 32 विभागों के कार्य चिन्हित कर पंचायती राज संस्थाओं को हस्तान्तरित करने की सिफारिश की।

इसी सिफारिस का संज्ञान लेकर तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने 32 विभागों में 16 विभागों को पंचायतों के पूर्ण नियंत्रण में देने का शासनादेश जारी किया।। सत्ता की बागडोर जब राजनाथ सिंह के हाथ आई तो उन्होंने भी मजबूत किया। लेकिन बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी की सरकार ने सभी विभाग एवं कई शक्तियां वापस ले ली थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The Yogi will come in the conference of the princes give these gifts