DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झूलेलाल की शोभायात्रा में देशभक्ति के रंग में डूबा शहर

गोरखपुर सिंधी समाज के प्रमुख चालीहा पर्व के तहत चल रहे नवरात्रि पर्व का रविवार को समापन हुआ। 16 से 25 अगस्त तक चलने वाले इस नवरात्रि पर्व पर सिंधी समाज द्वारा विभिन्न आयोजन किए गए। नवरात्रि पर्व के समापन पर सुबह सिंधी समाज के लोगों द्वारा पूजा-अर्चना कर हवन किया गया। समाज के सभी लोगों ने हवन के बाद व्रत का पारायण किया।


1969 से चली आ रही परंपरा को सिंधी समाज ने जीवंत रखा। इस वर्ष भी गोरखनाथ स्थित ओटन दास भागवानी के निवास स्थान से कुनरी व कलश शोभायात्रा निकाली गई।

कलश शोभायात्रा में सिंधी समाज की महिलाएं ओटनदास भागवानी के निवास स्थान से निकल कर विभिन्न रास्तों से होते हुए झूलेलाल मंदिर में पहुंची। कलश व कुनरी की स्थापना कर पूजा-अर्चना की गई।

इसके बाद भगवान झूलेलाल की पूजा अर्चना हुई। भगवान झूलेलाल की आरती के साथ ही शोभायात्रा का शुभारंभ हुआ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम में सम्मिलित नहीं होने पर मुख्यमंत्री प्रतिनिधि के रूप में गोरखनाथ मंदिर के कार्यालय प्रभारी द्वारका तिवारी व महापौर सीताराम जायसवाल ने शोभायात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The city dipped in patriotic colors in the procession of Jhulelal