DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  गोरखपुर  ›  तीसरी लहर का सामना करेगी 140 बाल रोग विशेषज्ञों की टीम

गोरखपुरतीसरी लहर का सामना करेगी 140 बाल रोग विशेषज्ञों की टीम

हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:50 AM
तीसरी लहर का सामना करेगी 140 बाल रोग विशेषज्ञों की टीम

गोरखपुर। वरिष्ठ संवाददाता

जिले में कोरोना की तीसरी लहर व इंसेफेलाइटिस को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। जिला अस्पताल और बीआरडी मेडिकल कालेज में 150 वेंटिलेटर बेड तैयार किए जा रहे हैं। इसके अलावा सीएचसी, पीएचसी और निजी अस्पतालों को इसके लिए तैयार किया जा रहा है। मध्यम गंभीर मरीजों के लिए इंसेफेलाइटिस वार्ड को तैयार किया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका और इंसेफेलाटिस से एक साथ निपटना स्वास्थ विभाग के लिए एक कड़ी चुनौती है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गोरखपुर का स्वास्थ विभाग इसके लिए अभी से ही पूरी तरह तैयार हो चुका है। आने वाले दिनों में इस कड़ी चुनौती का सामना करने के लिए जिले में 140 बाल रोग विशेषज्ञों की टीम भी कमर कस चुकी है। इसमें जिला अस्पताल में 12, बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 29, सीएससी-पीएससी में 16 और 83 प्राइवेट डॉक्टर शामिल हैं।

बच्चों को वेटिंलेटर पर देख सीएम का इशारा समझ गए अधिकारी

जिले में दौरे के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ जिला असपताल और मेडिकल कॉलेज में पीडियाट्रिक आईसीयू (पीकू) में भर्ती बच्चों को देखकर भावुक हो गए थे। उन्होंने बिना किसी देरी के उसी वक्त यहां के स्वास्थ महकमे को तत्काल अलर्ट मोड पर आ जाने का इशारा भी कर दिया था। ऐसे में सीएम के निरीक्षण और समीक्षा बैठक के बाद ही सीएमओ ने इसकी तैयारियां जोरों पर शुरू कर दी। जिले में काफी हद तक इसके लिए व्यवस्थाएं भी पूरी की जा चुकी हैं। शेष के लिए लगातार युद्ध स्तर पर काम जारी भी है।

सेना की तरह तैयार बैठी है डॉक्टरों की टीम

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पदाधिकारी व गोरखपुर एसोसिएशन ऑफ पीडियाट्रिक्स के पूर्व अध्यक्ष डॉ. आरके सिंह के मुताबिक कोरोना की दूसरी लहर में भी कुछ बच्चे प्रभावित हुए थे। अब तीसरी लहर में बच्चों पर ज्यादा असर की आशंका जताई जा रही है। इसके लिए जिले में पीडियाट्रिक डॉक्टरों टीम तैयार है।

शहर से लेकर गांव तक तैयार हैं डॉक्टर

सीएमओ डॉ. सुधाकर पाण्डेय ने बताया कि जिले में बालरोग विशेषज्ञों का टोटा नहीं है। जिला अस्पताल में 12 और बीआरडी मेडिकल कॉलेज 29 बालरोग विशेषज्ञ हैं। शेष जिले के सीएचसी, पीएचसी पर तैनात हैं या प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे हैं। गगहा, चौरीचौरा और पिपरौली में भी इलाज के लिए पांच-पांच बेड के पीडियाट्रिक वेंटिलेटर वार्ड तैयार किए जा चुके हैं। यहां भी बालरोग विशेषज्ञ तैनात हैं।

संबंधित खबरें