DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल में शिक्षक देख रहे थे मोबाइल, 2 निलंबित 17 का वेतन रूका

new Huawei Mate X device display at Mobile World Congress in Barcelona

बच्चों को पढ़ाने के समय मोबाइल पर व्यस्त रहने वाले और हाजिरी बनाकर गायब होने वाले दो शिक्षकों को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने निलंबित कर दिया है। जबकि नामांकन से काफी कम बच्चों के उपस्थित रहने तथा पढ़ाने में लापरवाही पर 17 शिक्षकों को वेतन भुगतान पर रोक लगा दिया गया है।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओम प्रकाश यादव ने 3 जुलाई को गौरी बाजार विकास खण्ड के पूर्व माध्यमिक विद्यालय धोबीटोला का औचक निरीक्षण किया। मौके पर मिले सहायक अध्यापाक शहरयार मजरूह मोबाइल पर व्यस्त थे और बच्चे इधर-उधर खेल रहे थे। जबकि पहले ही यह निर्देश दिया गया है कि स्कूल के समय मोबाइल न चलायें। बीएसए ने 4 जुलाई को सलेमपुर के प्राथमिक विद्यालय मटियरा का निरीक्षण किया। शिक्षक ओम प्रकाश हस्ताक्षर बनाकर गायब मिले। इस विद्यालय में दो अध्यापक व एक शिक्षा मित्र तैनात हैं। मौके पर एक भी बच्चा उपस्थित नहीं था। जबकि 31 जुलाई तक अभियान चलाकर नामांकन में बढ़ोतरी करने का निर्देश दिया गया है। बीएसए ने गुरुवार को सलेमपुर के मटियरा प्राथमिक विद्यालय, भलुअनी ब्लाक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय नरौली संग्राम, सलेमपुर ब्लाक के पूमावि मुसैला खुर्द, तथा प्राथमिक विद्यालय नदावर व पूमावि पिपरा भानमती का औचक निरीक्षण किया। इन सभी विद्यालयों में नामांकन के सापेक्ष बच्चों की उपस्थिति काफी कम पायी गयी। बीएसए ने शिक्षक शहरयार मजरूह, ओमप्रकाश को निलंबित कर दिया है। जबकि मटियरा की शिक्षिका प्रियंका राजकुमारी देवी, शिक्षा मित्र, नरौली संग्राम की अंजू मिश्र, शिवानंद यादव, वंृदा शर्मा, देवी, सुनील कन्नौजिया, साधना कुमार, मुसैला खुर्द के रमेश कुशवाहा, उमाशंकर मौर्य, सुषमा सिंह कुशवाहा, काजल, शिखा जायसवाल, नदावर के रश्मि गुप्ता, एजाज अहमद व सभी शिक्षा मित्र, चन्द्रकला मिश्र, वशिष्ठ यादव, दीप्ती शुक्ल के वेतन भुगतान पर रोक लगा दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Teachers in the school were watching the mobile suspend