Surgery stopped in Gorakhpur Pipraich CHC in gorakhpur - कायाकल्प में चुनी गई पिपराइच सीएचसी में सीजेरियन हुआ ठप DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कायाकल्प में चुनी गई पिपराइच सीएचसी में सीजेरियन हुआ ठप

कायाकल्प में चुनी गई पिपराइच सीएचसी में सीजेरियन हुआ ठप

पिपराइच में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र(सीएचसी) की व्यवस्था पटरी से उतरती जा रही है। किसी समय जिले की माडल सीएचसी में शुमार इस अस्पताल में महिलाओं का इलाज नहीं हो रहा है। बीते छह महीने से सीजेरियन ठप है। महिला डॉक्टर अस्पताल से कन्नी काट रही हैं।

पिपराइच सीएचसी को जिले की माडल सीएचसी माना जाता है। अस्पताल में आधुनिक ऑपरेशन थिएटर है। एनेस्थिसिया और सर्जन समेत छह डॉक्टर तैनात हैं। साफ-सफाई और सुविधाओं के लिहाज से शासन ने वर्ष 2017-18 के कायाकल्प योजना में इसे प्रदेश में दूसरा स्थान दिया।

दिसम्बर 2017 से ही अस्पताल की व्यवस्था पटरी से उतरने लगी। सबसे पहले संविदा पर तैनात स्त्री रोग विशेषज्ञ ने इस्तीफा दिया। वहां तैनात एक अन्य स्त्री रोग विशेषज्ञ को महिला अस्पताल से संबद्ध कर दिया गया। हाल ही में संविदा पर तैनात हुई गायनी की डॉक्टरों से भी सीएचसी के अधिकारियों की टसल हो गई।

आलम यह है कि गायनी की ओपीडी और ऑपरेशन दोनों ही ठप हैं। फरवरी से अब तक कोई सीजेरियन नहीं हुआ है। क्षेत्र की महिलाओं को इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कालेज का चक्कर काटना पड़ रहा है।

यह सही है कि सीजेरियन नहीं हो रहा है। इसको देखवाया जाएगा। अस्पताल में फिर से महिलाओं को बेहतर इलाज मिलेगा। इसके लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ को भी मोटिवेट किया जाएगा।

डॉ. श्रीकांत तिवारी, सीएमओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Surgery stopped in Gorakhpur Pipraich CHC in gorakhpur