Student entered DDU campus and beaten case on two - डीडीयू कैंपस में घुसकर छात्र को पीटा, दो पर केस DA Image
15 दिसंबर, 2019|2:51|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीडीयू कैंपस में घुसकर छात्र को पीटा, दो पर केस

डीडीयू कैंपस में घुसकर छात्र को पीटा, दो पर केस

गोरखपुर विश्वविद्यालय के क्रीड़ा परिसर में खेल के दौरान कुछ छात्रों ने एनसी हॉस्टल में रहने वाले बीए तृतीय वर्ष के गौरव मिश्रा की पिटाई कर दी। जिसमें गौरव का सिर फट गया। आरोप है कि पिटाई करने वाले सभी बाहरी लड़के थे। घटना से नाराज हॉस्टल के विद्यार्थियों ने मुख्य द्वार के सामने सड़क जाम कर धरना शुरू कर दिया। हालांकि इसी बीच नागरिकों की छात्रों से कहासुनी होने लगी और छात्र दो गुटों में बंट गए।

थोड़ी ही देर में यहां यह दोनों गुट आपस में ही मारपीट करने लगे। सड़क पर अफरातफरी मच गई। पुलिस ने लाठियां भांजकर भीड़ को हटाया और इसके बाद आवागमन सामान्य हुआ। मुख्य नियंता प्रो. प्रदीप यादव की सिफारिश पर गौरव की तहरीर पर कैंट पुलिस 2 युवकों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है।

घटना बुधवार को दोपहर करीब 12.30 बजे की है, जब कुछ छात्र क्रीड़ा परिसर में क्रिकेट खेल रहे थे। फील्ड में बैठे एक युवक को गेंद लग गई और इसे लेकर विवाद शुरू हो गया। गौरव का आरोप है कि समीर राठौर ने बैट छीनकर उसके सिर पर हमला कर दिया। उसके साथी आकाश यादव, प्रभात यादव और राजन सैनी ने पिटाई की। उधर, सूचना पाकर घायल गौरव के साथी भी पहुंच गए लेकिन तब तक पिटाई करने वाले भाग निकले। गौरव को जिला अस्पताल ले जाया गया। उधर, आक्रोशित छात्र एनएसयूआई के योगेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में डीडीयू गेट के सामने छात्र सड़क पर बैठ गए और रास्ता जाम कर दिया। सूचना पाकर मुख्य नियंता प्रो. प्रदीप यादव और काफी संख्या पुलिस भी पहुंच गई। सड़क जाम होने पर नागरिकों ने भी विरोध किया और कहासुनी होने लगी। इसी बीच कुछ छात्रों में आपस में भी झगड़ा होने लगा। देखते ही देखते मारपीट शुरू हो गई। इसके बाद पुलिस ने सख्ती बरती और लाठियां भांजकर भीड़ को हटाया। करीब आधे घंटे बाद यातायात सामान्य हो गया। कैंट इंस्पेक्टर रवि राय ने बताया कि समीर राठौर और आकाश यादव के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

बिना रसीद या परिचय पत्र प्रवेश प्रतिबंधित

मुख्य नियंता ने विवि परिसर में बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। छात्रों से कहा है कि वाहनों को स्टैंड में खड़ा करने के बाद सुरक्षा गार्डों को परिचय पत्र या रसीद दिखा कर ही कैंपस में प्रवेश करें। शिक्षकों, शोध छात्रों व कर्मचारी गण को गार्डों के पूछने पर परिचय बनाने की अपील की है ताकि गार्ड उनका यथोचित सम्मान कर सकें। बाहरी लोग कैंपस में मिले तो उन्हें पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Student entered DDU campus and beaten case on two