Special trains and roadways buses to run on Khichdi Mela - खिचड़ी मेला पर रेलवे चलाएगी स्पेशल ट्रेनें और रोडवेज बसें DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खिचड़ी मेला पर रेलवे चलाएगी स्पेशल ट्रेनें और रोडवेज बसें

श्रावणी मेला

मकर संक्रांति मेले को लेकर रेलवे और रोडवेज ने तैयारियां शुरू कर दी है। मेले के दौरान स्पेशल ट्रेनें और बसें चलवाई जाएंगी। प्रशासन ने रेलवे महाप्रबंधक से गुजारिश की है कि मेले के दौरान स्पेशल ट्रेनों के आने-जाने का समय और प्लेटफार्म किसी भी सूरत में न बदला जाए। 

मकर संक्रांति  मेला
खिचड़ी मेला पर रेलवे चलाएगी स्पेशल ट्रेनें और रोडवेज बसें
मेले को लेकर पूर्वोत्तर रेलवे और रोडवेज ने शुरू कर दी है तैयारी
ट्रेनों के आने-जाने का समय व प्लेटफार्म न बदलने की हिदायत

मकर संक्रांति के अवसर पर गोरखनाथ मंदिर में तकरीबन एक माह तक चलने वाले मेले को लेकर जिम्मेदार विभागों के अफसरों ने अपनी-अपनी जिम्मेदारियों को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। पूर्वोत्तर रेलवे और रोडवेज भी अपनी तैयारी में जुटे हैं। पूर्वोत्तर रेलवे 14-15 जनवरी, 20, 22, 26, 29 जनवरी, 04 फरवरी और 10 फरवरी को नौतनवां-गोरखपुर, बलरामपुर-बढ़नी-गोरखपुर, बेतिया-कप्तानगंज-गोरखपुर, छपरा-देवरिया-गोरखपुर, गोंडा-सहजनवां-गोरखपुर के बीच विशेष ट्रेनें चलवाएगी। 
जिला प्रशासन ने पूर्वोत्तर रेलवे से कहा है कि इन मार्गों पर पहले से तय समय और प्लेटफार्म पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु जुट जाते हैं। इनमें बदलाव होने से उन्हें दिक्कतें हो सकती हैं। वहीं रोडवेज ने इन्हीं तिथियों को नौतनवां, ठूठीबारी, पडरौना, कप्तानगंज, देवरिया, मऊ, बढ़नी, सिद्धार्थनगर, डुमरियागंज, बस्ती, खलीलाबाद, बलरामपुर, गोंडा, बड़हलगंज, गोला, दोहरीघाट, पिपराइच आदि स्थानों से गोरखपुर के लिए स्पेशल बसें चलवाने की तैयारी शुरू कर दी है।

कोटेदारों को 5000 लीटर मिट्टी तेल आवंटित
मकर संक्रांति मेले को देखते हुए जिला प्रशासन ने जिलापूर्ति अधिकारी से दो टूक कहा है कि गोरखनाथ मंदिर के आस-पास के कोटेदारों को 5000 लीटर मिट्टी तेल आवंटित कर दिया जाए। खाद्यान्न और चीनी भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करा दी जाए ताकि श्रद्धालुओं को उनकी जरूरत के हिसाब से मिल सके।

वन विभाग करेगा 1500 कुंतल जलौनी लकड़ी की व्यवस्था
कड़ाके की ठंड पड़नी शुरू हो गई है। मकर संक्रांति मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे। श्रद्धालुओं को ठंड से राहत दिलाने के लिए जगह-जगह अलाव की व्यवस्था की जाएगी। जिला प्रशासन ने वन विभाग से कहा है कि वह मेले को देखते हुए 1500 कुंतल जलौनी लकड़ी की व्यवस्था कर ले। कहीं भी किसी प्रकार की दिक्कत न होने पाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Special trains and roadways buses to run on Khichdi Mela