DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छह जोनल रेलों ने चार घंटे कम कर दी गोरखपुर से बेंगलुरु की दूरी

छह जोनल रेलों ने चार घंटे कम कर दी गोरखपुर से बेंगलुरु की दूरी

बेंगलुरु (यशवंतपुर) जाने वाले यात्रियों के लिए राहत की खबर है। गोरखपुर से बेंगलुरु पहुंचने में जहां अभी 51 घंटे लगते हैं। कुछ समय बाद गोरखपुर से यशवंतपुर की दूरी चार घंटे कम हो जाएगी। यह संभव हो सका है हाल ही में रेलवे बोर्ड में आयोजित बैठक के दौरान छह जोनों- एनईआर-नार्दर्न, डब्ल्यूसीआर, एनसीआर, सर्दर्न व सेंट्रल रेलवे के बीच आपसी सहमति से।

गोरखपुर-यशवंतपुर एक्सप्रेस 15015 की नागपुर तक तो रफ्तार ठीक रहती है लेकिन चंदरपुर से यशवंतपुर रूट पर कुल 1000 किलोमीटर की दूरी 25 घंटे में तय होती है। इसके चलते ट्रेन 51 घंटे में यशवंतपुर पहुंचती है। छह जोन के बीच आपसी सहमति के बाद औसत स्पीड बढ़ाने और कुछ स्टेशनों पर ठहराव के समय को कम करने पर मुहर लगने से अब रेलवे चंदरपुर से यशवंतपुर तक लगने वाले समय में चार घंटे की कमी आएगी। यह दूरी अब 21 घंटे में पूरी होगी।

चंदरपुर से यशवंतपुर तक थी महज 40 की औसत रफ्तार

एक्सप्रेस ट्रेनों की औसत चाल जहां 55 से 60 किमी प्रतिघंटा होती है वहीं इस ट्रेन की चंदरपुर से यशवंतपुर तक औसत स्पीड महज 40 किमी प्रतिघंटा है। इसी वजह से ट्रेन को इस रूट को तय करने में 25 घंटे का समय लग जाता है।

हफ्ते में एक दिन चलती है यशवंतपुर एक्सप्रेस

यशवंतपुर जाने वाली ट्रेन सप्ताह में एक दिन चलती है। ट्रेन के जनरल डिब्बे से लेकर आरक्षित बोगियां भी ठसाठस रहती हैं। इस ट्रेन में दो-दो महीने पहले आरक्षण कराने वाले यात्रियेां को भी कन्फर्म बर्थ नहीं मिल पाता है। यशवंतपुर के लिए एक ही ट्रेन होने की वजह से इसमें ज्यादा भीड़ रहती है।

इन क्षेत्रीय रेलवे में बनी सहमति

- पूर्वोत्तर रेलवे

- उत्तर रेलवे

- पश्चिम मध्य रेलवे

- उत्तर मध्य रेलवे

- सर्दर्न रेलवे

- सेंट्रल रेलवे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Six zonal trains reduced the distance from Gorakhpur to Bengaluru by four hours