ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुरनगर निगम 6वीं‌ बैठक में नवाचार पर रार के हालात, पार्षद वरीयता बढ़ाने पर जोर

नगर निगम 6वीं‌ बैठक में नवाचार पर रार के हालात, पार्षद वरीयता बढ़ाने पर जोर

गोरखपुर, मुख्य संवाददाता। नगर निगम सदन की बैठक में कोई प्रस्ताव रखने से...

नगर निगम 6वीं‌ बैठक में नवाचार पर रार के हालात, पार्षद वरीयता बढ़ाने पर जोर
हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरTue, 27 Feb 2024 12:00 PM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर, मुख्य संवाददाता। नगर निगम सदन की बैठक में कोई प्रस्ताव रखने से पहले महापौर को उपलब्ध कराने के नवाचार पर रार की स्थिति बन रही है। बैठक के पूर्व लिए गए इस निर्णय के अनुपालन में 80 पार्षदों में तकरीबन 35 ने ही महापौर कार्यालय को अपने प्रस्ताव दिए हैं। ऐसे में शेष पार्षदों को सदन में प्रस्ताव रखने का मौका नहीं मिला तो रार की स्थिति बन जाएगी।
यह नई व्यवस्था मंगलवार को होने जा रही सदन की बैठक से ही लागू हो रही है। शुक्रवार को ही नई व्यवस्था के बारे में सभी पार्षदों को पत्र जारी किया गया था हालांकि पार्षदों को कहना है कि उन्हें जानकारी विलंब से मिली। निगम अधिकारियों के मुताबिक बैठक को और व्यवस्थित करने, ज्यादा से ज्यादा पार्षदों को बात रखने का मौका देने के लिए, एक दिन पहले ही प्रस्ताव उपलब्ध कराने की व्यवस्था बनाई गई है। हालांकि पार्षदों में इस नई व्यवस्था पर असंतोष है। फिलहाल बैठक में 5वीं बैठक की कार्यवाही की पुष्टी के साथ पुनरीक्षित बजट 2023-24 एवं 2024-25 के मूल बजट पर विचार-विमर्श किया जाएगा। महापौर की अनुमति से नए प्रस्ताव रखे जाएंगे।

सपा पार्षद जीआईएस और अतिक्रमण हटाओ अभियान पर घेरेंगे

मंगलवार को होने वाली नगर निगम सदन की 6वीं बोर्ड बैठक के पहले समाजवादी पार्टी के पार्षदों ने बैठक की। इसमें तय किया गया कि जीआईएस सर्वेक्षण, सफाई कर्मी और उपकरण बढ़ाए जाने, पार्षद वरीयता की धनराशि बढ़ाने के साथ उसमें किए जाने वाले कार्यों और अतिक्रमण के नाम पर किए जा रहे उत्पीड़न का मसला प्रमुखता से उठाया जाएगा। बैठक के बाद इन विन्दुओं पर चर्चा के लिए महापौर डॉ मंगलेश श्रीवास्तव के कार्यालय को प्रस्ताव भी उपलब्ध कराया गया। सपा पार्षद दल के नेता सुभाष यादव की अध्यक्षता में हुई बैठक में पार्षद चंद्रभान प्रजापति, अभिषेक, दिलशाद आलम, जिलाउल इस्लाम, मनोज त्रिपाठी, जुबेर अहमद, दानिश मुस्तफा, शाहिद अख्तर, वलीउल्लाह अंसारी, उजेर अंसारी, असरुद्दीन अंसारी समेत अन्य सपा पार्षद मौजूद रहे। पिछली बार सपा पार्षद जिलाउल इस्लाम ने भी प्रमुखता से जीआईएस सर्वेक्षण का मसला उठाते हुए इसे फर्जी करार दिया था। उनकी मांग पर आपत्ति के साथ 100 रुपये के शुल्क नहीं लिए जाने का निर्णय हुआ था।

जोनवार वार्डों के पुर्नगठन का उठेगा मुद्दा

दिग्विजयनगर वार्ड से भाजपा पार्षद ऋषि मोहन वर्मा ऋटिपूर्ण जीआईएस सर्वेक्षण के बिलों में सुधार एवं निर्माण एवं पथ प्रकाश के संबंध में सवाल उठाएंगे। वही, दक्षिणी बेतियाहाता वार्ड से पार्षद विश्वजीत त्रिपाठी भी जीआईएस सर्वेक्षण के बिलों में सुधार और पार्षद वरीयता की सीमा बढ़ा कर 75 लाख हुए करने की मांग करेंगे। सिविल लाइन प्रथम से पार्षद अजय राय ने जोनवार वार्डो के वितरण का पुर्नगठन का मुद्दा उठाएंगे, जोनल कार्यालय में काम न किए जाने और सफाई कर्मियों की तैनाती का मसला उठाएंगे। सिविल लाइन द्वितीय से पार्षद देवेंद्र गौड़ पिंटू भी पार्षद वरीयता में बढ़ोतरी एवं डेयरियों पर कार्रवाई पर चर्चा करेंगे। चंद्रशेखर आजाद चौक से पार्षद धर्मेंद्र सिंह बताया कि जलापूर्ति विभाग की अनियमितता का मुद्दा उठाएंगे। महर्षि दधिचिनगर से पार्षद श्रवण, बहारामपुर जफर कॉलोनी में सीलिंग की जमीन कल्याण मण्डपम बनाने की मांग करेंगे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें