DA Image
23 सितम्बर, 2020|9:34|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन के नए फार्मूले से व्‍यापारी प्रशासन, बोले-ऐसे तो बर्बाद हो जाएंगे हम 

प्रशासन द्वारा बाजार में प्रतिबंध को लेकर लगातार जारी फरमान से कारोबारी परेशान है। सबसे अधिक दिक्कत में साहबगंज के थोक कारोबारी हैं। दुकानदारों का कहना है कि पिछले 130 दिनों में बाजार मुश्किल से 20 दिन खुला है। जब नागरिकों की आवाजाही पर रोक नहीं है तो चुनिंदा थानाक्षेत्रों में प्रतिबंध का मतलब नहीं है। कारोबारियों का कहना है कि प्रतिबंध और अनिश्चितता के चलते बारिश में लाखों रुपये का कच्चा माल खराब हो रहा है।

साहबगंज थोक मंडी के व्यापारियों का कहना है कि बारिश के चलते माल खराब होने का डर है। व्यापारियों ने किराना, ड्राई फ्रूट, राशन ,तेल ,घी ,पशु आहार, आटा, बिस्किट, नमकीन आदि की थोक दुकानों को खोलने देने की मांग की। साहबगंज थोक मंडी का हिस्सा राजघाट एवं कोतवाली थाना क्षेत्रों में आता है। अभी तक राजघाट, कोतवाली, तिवारीपुर एवं गोरखनाथ थानाक्षेत्रों में लॉकडाउन था। मंगलवार से राजघाट, कैंट एवं गोरखनाथ थाना क्षेत्रों में भी लॉकडाउन रहेगा।

चेम्बर ऑफ ट्रेडर्स, साहबगंज के अध्यक्ष अनूप किशोर अग्रवाल का कहना है कि आपूर्ति की अनुमति नहीं मिलेगी तो रिटेल में दुकानदारों को खाद्य पदार्थ सही समय और उचित दर पर नहीं मिल पाएगा। वहीं महामंत्री कमलेश अग्रवाल और गोरखपुर किराना कमेटी अध्य्क्ष उमेश मद्धेशिया ने संयुक्त रूप से कहा बरसात में माल खराब होने की स्थिति है। उन्होंने कहा कि दुकान बन्द करके बिजली का बिल, कर्मचारियों का वेतन, दुकान का किराया कब तक दे पाएंगे। माल खराब होगा तो पूंजी ही खत्म हो जाएगी। 

महामंत्री गोपाल जायसवाल और युवा बिस्कुट मर्चेंट के अध्यक्ष सौरभ अग्रवाल ने कहा कि कोविड 19 बीमारी में व्यापारियों ने भी जिला प्रशासन की हमेशा मदद की है और आगे भी करेंगे। उन्होंने खाद्य पदार्थ की सभी प्रकार की दुकानों को खोलने की अनुमति देने की मांग की है। गोरखपुर डिस्पोजल एसोसिएशन के सचिव विशाल गुप्ता ने बताया कि जब मरीज पूरे शहर में मिल रहे हैं तो लॉकडाउन भी हर जगह होना चाहिए। बाजार बंद होने से ग्राहक टूटने लगे हैं। बगल के बाजार खुलने से वे वहां चले जाते हैं। पिछले 130 दिनों में मात्र 20 दिन ही दुकान खुल पाई है। एक जगह दुकान खुलने व दूसरी जगह बन्द रहने के कारण भी माल फंस गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:shopkeepers are against lock down formula protested