DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला अस्पताल में होगी स्क्रब टॉयफस की जांच

जिला अस्पताल में होगी स्क्रब टॉयफस की जांच

बीआरडी मेडिकल कालेज के बाद अब जिला अस्पताल की पैथोलॉजी में स्क्रब टॉयफस की जांच होगी। इस जांच के लिए एलाइजा मशीन की दरकार होती है। अस्पताल में एक एलाइजा मशीन पहले से है। एक और मशीन की मांग की है। इस सुविधा के शुरू होने से मरीजों के सैंपल बीआरडी नहीं भेजने होंगे।

पूर्वी यूपी हर साल इंसेफेलाइटिस के प्रकोप से जूझता है। आईसीएमआर और बीआरडी मेडिकल कालेज के डॉक्टरों ने बीते दो साल में रिसर्च कर इंसेफेलाइटिस की मुख्य वजह स्क्रब टॉयफस करार दिया है। इसको देखते हुए शासन ने बीआरडी के बाद जिला अस्पताल में इस जांच को शुरू करने का फैसला किया। यह जांच शुरू होने से एईएस मरीजों में बीमारी का कारण पता लगाने में मदद मिलेगी साथ ही उनके इलाज में भी आसानी होगी।

जिला अस्पताल में यह जांच शुरू हो सके, इसके लिए शासन से कार्टेज की मांग की गई है। एसआईसी डॉ. आरके गुप्ता ने बताया कि जिला अस्पताल की पैथोलॉजी में एईएस मरीजों में स्क्रब टायफस की जांच जल्द शुरू करने की तैयारी है। अस्पताल में यह जांच शुरू करने के लिए कार्टेज की मांग की गई है।

मिल गई एलाइजा रीडर

जिला अस्पताल को एक और एलाइजा रीडर मशीन मिली है। अस्पताल में सिर्फ एक एलाइजा रीडर मशीन थी। अब दो मशीन होने से जांच क्षमता दोगुनी हो जाएगी। एलाइजा रीडर मशीन मरीज के सीरम के जरिये बीमारियों की पहचान करती है। इसमें न सिर्फ कम समय लगता है बल्कि जांच रिपोर्ट भी सटीक होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Scrub typhus will be checked in District Hospital Gorakhpur