DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारकोड से स्कैन कर यात्री कर सकेंगे कुलियों की पहचान

यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। रेलवे ने अब यात्रियों की सहूलियत के लिए एक खास इंतजाम किया है। कुलियों की पहचान के लिए उन्हें बार कोड वाले आईकार्ड दिए जाएंगे। इससे यात्री मोबाइल से स्कैन कर उनके बारे में जान सकेंगे। कोड स्कैन करने के बाद संबंधित कुली के बारे में सारी जानकारी मिल जाएगी। इसमें उनका मोबाइल नंबर भी शामिल है।  
  ट्रायल के रूप में यह सुविधा सेंट्रल रेलवे में शुरू कर दी गई है। जल्द ही इसे पूर्वोत्तर रेलवे समेत अन्य रेलवे में इस व्यवस्था को लागू कर दिया जाएगा। व्यवस्था के शुरू हो जाने के बाद कुलियों को अपने गले में कार्ड टांगना अनिवार्य होगा। ऐसा न करने पर संबंधित कुली के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 
क्यूआर कोड के साथ नया परिचय पत्र
यात्री अकसर ज्यादा पैसे लेने के साथ-साथ कुलियों के खराब व्यवहार की शिकायतें आती हैं। यात्रियों की शिकायत रहती है कि निर्धारित दर तय होने के बाद भी मनमाना पैसा वसूलते हैं। ऐसे में इन पर अंकुश लगाने के लिए बार कोडिंग की व्यवस्था की जा रही है। इससे यात्री अपने मोबाइल में क्यूआर कोड स्कैन कुली के बारे में सबकुछ जान सकेंगे और मनमानी करने पर नाम और पते के साथ सम्बंधित अधिकारी से शिकायत कर सकेंगे। 
कभी-कभी असली-नकली की पहचान मुश्किल
कभी-कभी असली और नकली कुली की पहचान करना मुश्किल हो जाता है। वे अपनी बांह पर बिल्ला (बैज) लगाए रहते हैं लेकिन यह ठीक से दिखता नहीं है। एक बार जब यात्री कोड स्कैन कर लेंगे तो उन्हें सारी जानकारी मिल जाएगी। अगर उन्हें कोई समस्या आती है तो बाद में आसानी से शिकायत दर्ज हो जाएगी। 
ट्रॉली पर होगा सामान
ट्रॉली मिल जाने से कुली सामान सिर या कंधे पर बांधने के बजाय एयरपोर्ट पर मिलने वाली ट्रॉली से ले जाएंगे। इससे कुली भारी भरकम सामान की ढुलाई करने से बच सकेंगे।
पूर्वोत्तर रेलवे में कुलियों की संख्या 
कुलियों की संख्या
गोरखपुर-137
लखनऊ-65
वाराणसी-170
सवा सौ पुराना रिश्ता है रेलवे और कुली का
भारतीय रेल और कुलियों का सम्बंध 125 साल पुराना है। तब से लेकर कुली पीढ़ी दर पीढ़ी इस काम को करते आ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Scanning the barcode the passengers will be able to identify the porter