Ruckus on the death of the girl after injection - इंजेक्शन लगाने के बाद युवती की मौत पर हंगामा DA Image
10 दिसंबर, 2019|10:46|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजेक्शन लगाने के बाद युवती की मौत पर हंगामा

इंजेक्शन लगाने के बाद युवती की मौत पर हंगामा

जिला अस्पताल में वायरल फीवर (बुखार) के कारण दो दिन से भर्ती युवती की सोमवार को इंजेक्शन लगाने के कुछ ही देर में मौत हो गई। युवती की मौत के बाद परिवारीजन हंगामा करने लगे। उन्होंने डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया। इस दौरान परिवारीजनों ने डॉक्टर से हाथापाई भी की। पुलिस ने मामला शांत कराया।

बेलीपार के चारपानी निवासी 21 वर्षीय अनुराधा को गुरुवार से तेज बुखार हो रहा था। शनिवार को परिवारीजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। ओपीडी में मौजूद डॉ. महेश चौधरी की सलाह पर परिवारीजनों ने अनुराधा को भर्ती करा दिया। इसके बाद उसके हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। सोमवार की सुबह आठ बजे उसकी हालत बिगड़ने लगी। युवती को सांस लेने में तकलीफ हुई। परिवारीजनों ने इसकी सूचना वार्ड में तैनात नर्सों को दी। नर्सों ने वार्ड में ऑक्सीजन सिलेंडर न होने का हवाला देकर पल्ला झाड़ लिया। एक घंटे बाद अनुराधा की हालत और खराब हो गई तो फिर परिवारीजनों ने नर्सों को सूचना दी। नर्सों ने डॉक्टर को बताया।

सूचना पर पहुंचे डॉ. महेश चौधरी ने मरीज का इलाज करने से पहले बार-बार नर्सों को परेशान करने हवाला देते हुए तीमारदारों को डांट दिया। रोते-बिलखते तीमारदारों ने डॉक्टर से मरीज का इलाज करने की गुजारिश की। मरीज की हालत देखकर डॉक्टर ने नर्स से ऑक्सीजन सिलेंडर और इंजेक्शन लाने को कहा। नर्स द्वारा दिए इंजेक्शन को डॉक्टर ने अनुराधा को लगाया। इंजेक्शन लगाने के बाद अनुराधा की हालत और बिगड़ गई। उसके मुंह से झाग निकलने लगा। चंद पलों में ही उसकी सांसें थम गईं। इस दौरान मरीज के पास मौजूद डॉक्टर ने सीपीआर (सीने को पुश) करने की कोशिश की। इतना ही नहीं मरीज के पास एक नर्स ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर पहुंची।

अनुराधा की मौत के बाद भड़के तीमारदार

अनुराधा की मौत के बाद तीमारदारों ने आपा खो दिया। वह मौके पर मौजूद डॉक्टर से उलझ गए। वह डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हाथापाई करने लगे। जैसे-तैसे कर्मचारियों ने भड़के तीमारदारों के चंगुल से डॉक्टर को बचाया। इस बीच किसी ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल पहुंच गया।

सांसद के हस्तक्षेप के बाद सीएमओ ने डॉक्टर को किया तलब

अनुराधा की मौत के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। तीमारदारों के समर्थन में कई जनप्रतिनिधियों ने सीएमओ को फोन किया। इसमें एक सांसद भी शामिल रहे। मामले की नजाकत को देखते हुए सीएमओ ने अनुराधा के इलाज की फाइल तलब कर ली। उन्होंने डॉक्टर से भी बात की।

बोले तीमारदार

मरीज की मौत सिर्फ डॉक्टर की लापरवाही से हुई है। डॉक्टर पहले दिन से इलाज सही से नहीं कर रहा था। आज उसी ने इंजेक्शन लगाया। जिसके बाद अनुराधा की मौत हुई। इसकी शिकायत की जाएगी।

शिवप्रसाद, तीमारदार

बोले जिम्मेदार

मामला गंभीर है। मेरे संज्ञान में है। सामान्य बुखार के मरीज की मौत इलाज के दौरान नहीं होनी चाहिए थी। इस मामले की जांच कराई जाएगी। अगर डॉक्टर के इलाज में लापरवाही निकलेगी तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

डॉ. श्रीकांत तिवारी, सीएमओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Ruckus on the death of the girl after injection