DA Image
1 नवंबर, 2020|10:30|IST

अगली स्टोरी

उपचुनाव कराने गईं रोडवेज की बसें, यात्री परेशान

राप्तीनगर और गोरखपुर व देवरिया डिपो की 65 से अधिक बसें देवरिया उपचुनाव में लगा दी गई हैं, जिससे लोकल रूट के यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। देवरिया, कुशीनगर और महराजगंज के यात्रियों को बसों के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। वहीं किराया और रूट तय होने के बाद भी गोरखपुर से पटना, मोतिहारी और रक्सौल के लिए बस सेवा शुरू नहीं हो सकी है।

राप्तीनगर में 146 बसें हैं। 50 से अधिक बसें एसी वाली हैं। अब यात्री अनुबंधित बसों के भरोसे हो गए हैं। राप्तीनगर कचहरी बस स्टेशन से प्रयागराज, वाराणसी, मऊ, गाजीपुर, आजगमढ़ और गोरखपुर रेलवे बस स्टेशन से दिल्ली, कानपुर, लखनऊ, सोनौली आदि लोकल रूटों पर बसें दौड़ती हैं। देवरिया उपचुनाव के लिए गोरखपुर और राप्तीनगर की 15-15 बसें चुनाव ड्यूटी को लेकर भेज दी गई हैं। वहीं कोरोना का खौफ कम होने के साथ त्योहारी मौसम के चलते रोडवेज बसों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। 

इससे लोकल रूट पर यात्रियों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। महराजगंज की बस का इंतजार कर रहे पुनीत वर्मा ने बताया कि ट्रेन से परिवार समेत दिल्ली से आया। बस के लिए घंटेभर का इंतजार करना पड़ा। इसी तरह कसया को जाने वाले महेश शुक्ला ने बताया कि बस के इंतजार के बाद डग्गामार बस से यात्रा करनी पड़ा। देवरिया की 35 बसें चुनावी ड्यूटी में लगी हैं। 

बिहार के लिए नहीं शुरू हो सकी बस सेवा
गोरखपुर डिपो की साधारण बस बिहार की राजधानी पटना, रक्सौल और मोतिहारी के लिए चलाई जानी है। इसके लिए जिम्मेदारों ने बस की टाइमिंग और किराया तय कर लिया है, लेकिन बिहार जाने वाले लोगों को बस का संचालन शुरू होने का इंतजार है। 

देवरिया उप चुनाव में 65 बसें भेजी गई हैं। बसों का इंतजाम कर यात्रियों को सहूलियत दी जा रही है। गोरखपुर से बिहार के लिए तीन बसों का संचालन किया जाना है। जल्द ही बिहार के लिए बसों का संचालन शुरू किया जाएगा। 
केके तिवारी, एआरएम गोरखपुर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:roadways buses engaged in by election passengers faced problem