DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुशीनगर में बाढ़ बचाव और राहत पहुंचाने को किया गया पूर्वाभ्यास

कुशीनगर जिले में तबाही मचाने वाली बड़ी गंडक नदी के बाढ़ से निपटने एवं बाढ़ प्रभावितों को तत्काल राहत पहुंचाने के लिए तमकुहीराज के अहिरौलीदान और खड्डा के महदेवा में पूर्वाभ्यास किया गया। पूर्वाभ्यास में डीएम, एसपी के साथ विभिन्न विभागों के अफसर एवं कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान पूर्वाभ्यास देखने जुटी भीड़ को भी बाढ़ से बचाव के तरीके बताये गये। 


तमकुहीराज तहसील क्षेत्र के अहिरौलीदान में प्रशासन द्वारा माक ड्रिल किया गया। इसके तहत प्रशासन द्वारा बाढ़ शरणालय प्राथमिक पाठशाला अहिरौलीदान में बनाकर आपदा संचालन केन्द्र तीन भागों में विभाजित किया गया। इन्सीडेन्ट कमाण्डर डीएम डा. अनिल कुमार सिंह, डिप्टी कमाण्डर एडीएम कृष्ण लाल तिवारी, सेफ्टी आफिसर एसपी अशोक कुमार पांडेय, लाइजनिंग आफिसर एसडीएम त्रिभुवन बने हुए थे। इनकी अगुवाई में प्रशासनिक टीम ने अहिरौलीदान स्थित प्राथमिक विद्यालय परिसर में लोगों को बाढ़ बचाव व राहत कार्य से संबंधित जानकारी देते हुए आपदा से निपटने का गुर सिखाया। इसके बाद प्रशासनिक टीम अहिरौलीदान के खैरखुटा टोले के समीप गंडक नदी में जाकर राहत व बचाव कार्य के तहत पूर्वाभ्यास किया। लगभग तीन घंटे तक चले इस कार्यक्रम को देखने के लिए मौके पर भारी भीड़ जमा रही। कार्यक्रम के दौरान सेक्शन प्रभारी एसओ तरयासुजान विनय पाठक, प्लानिंग सेक्शन प्रभारी तहसीलदार रामप्यारे, लाजिस्टिक सेक्शन प्रभारी बीडीओ तमकुहीराज डा. अरुण कुमार रहे।
वहीं खड्डा क्षेत्र में नदी उस पार महदेवा गांव के प्राथमिक विद्यालय पर एडीएम न्यायिक साहबलाल व एसडीएम अरविंद कुमार की अगुवाई में बाढ़ से बचाव एवं राहत पहुंचाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारियों ने पूर्वाभ्यास किया। एनडीआरएफ, पीएसी के जवानों के साथ नाविकों व गोताखोरों ने डेमो के तौर पर नदी के एक टापू पर अपने मवेशियों के साथ फंसे लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला। वहीं गोताखोरों ने नदी में डूब रहे तीन लोगों को रेस्क्यू कर बचाया। डा. उमाशंकर नायक की टीम ने नदी से निकाले गए जितेंद्र, राजू व फेंकू का पहले पेट दबाकर मुंह से पानी निकाला और फिर बाढ़ राहत शिविर में इलाज के लिए भर्ती कराया। इस दौरान पहुंचे विधायक जटाशंकर त्रिपाठी ने गोताखोरों को शाबासी दी और एसपी उत्तरी गौरव बंशवाल के साथ टापू पर फंसे लोगों को ढांढस बंधाने पहुंचे। सिंचाई विभाग बाढ़ खंड के सहायक अभियंता आमोद कुमार ने नदी में कटान के दौरान तार की जाली में बोल्डर डाल डंपिंग कराने के साथ जाली में बालू भरी बोरियों को डलवाने का डेमो प्रस्तुत किया। राहत शिविर में एडीएम, विधायक, एएसपी एवं तहसीलदार मनोज तिवारी ने बाढ़ पीड़ितों को भोजन का पैकेट दिया। इस दौरान श्री गांधी इंटर कालेज के प्रधानाचार्य डा. गोरख राय, प्रवक्ता शेषनाथ राय व दिवाकर यादव के नेतृत्व में स्काउट के छात्रों ने भी बाढ़ पीड़ितों का खूब सहयोग किया । एनजीओ सहित स्वास्थ्य विभाग व पशुपालन विभाग के अधिकारी कैम्प लगा कर बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ सक्रिय दिखे ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rehearsal to rescue flood relief and relief in Kushinagar