Rapti river flowing 30 meters away from the population consisting of rural - आबादी से 30 मीटर दूर बह रही राप्ती नदी, सहमे ग्रामीण DA Image
18 नबम्बर, 2019|8:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आबादी से 30 मीटर दूर बह रही राप्ती नदी, सहमे ग्रामीण

राप्ती नदी पर बने मलौनी बांध और नदी के तलहटी में बसे डूहिया ग्रामसभा के ग्रामीण कटान से भयभीत हैं। कटान करती नदी आबादी से सिर्फ 30 मीटर की दूरी पर उफना रही है। भयभीत किसान खेतों के साथ मकान के भी नदी में समा जाने की चिंता से डरे हुए हैं। उन्होंने बचाव के लिए ठोकर बनाने की मांग कर रहे हैं। 
पिछले कुछ वर्षों में गांव के तमाम परिवारों की कृषि योग्य जमीन नदी में समा गई। कई मकान भी नदी के गर्भ में चले गए। इससे यहां बसे परिवारों को तमाम आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले साल आई बाढ़ में भी यहां के लोगों ने काफी क्षति दिखाई। तब तमाम अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने मौके का निरीक्षण कर बाढ़ सुरक्षा कार्य कराने का वादा किया था लेकिन नदी का जलस्तर बढ़ने लगा है। इसके साथ ही ग्रामीणों की चिंता भी। 

‘‘डूहिया के ही बढ़ई टोला के सामने भी नदी की कटान हो रही है। यहां भी बाढ़ सुरक्षा के लिए बाढ़ खण्ड ने कोई कार्य नहीं किया है। छह मकान नदी के मुहाने पर हैं। तत्काल यहां बाढ़ सुरक्षा कार्य शुरू होना चाहिए।’’


पारस नाथ शर्मा

‘‘हमारी पांच बीघा जमीन बाढ़ सुरक्षा कार्य न होने से कट कर उस पार चली गई। बची-खुची जमीन और मकान पर भी संकट बना हुआ है। बाढ़ के दिनों में विधायक, मंत्री और अधिकारी सभी आते हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती है।’’


नर्वदा देवी

‘‘मेरी एक एकड़ जमीन धीरे-धीरे कट कर नदी के उस पार चली गई। डूहिया के समक्ष ठोकर नहीं बना तो ग्रामीणों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा। सरकार को तत्काल बचाव के लिए कदम उठाना चाहिए।’’


दिलीप कुमार सिंह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rapti river flowing 30 meters away from the population consisting of rural