DA Image
18 अक्तूबर, 2020|10:25|IST

अगली स्टोरी

राणा प्रताप हत्‍याकांड का खुलासा: साथियों ने की थी भाजपा नेता के बेटे की हत्‍या, मौत के बाद लाश पर बाइक गिरा कर हो गए थे फरार 

25 thousand wanted was caught in a police encounter near spinning mill and accused of murder after r

भाजपा नेता के बेटे राणा प्रताप की हत्या आशनाई में साथियों ने ही की थी। हत्या को दुर्घटना का रूप देने के लिए वे राणा के ऊपर बाइक गिराकर चले गए थे। पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर दिया।
 
एसपी उत्तरी अरविन्द कुमार पाण्डेय और सीओ चौरीचौरा कपिलदेव मिश्रा ने बताया कि गुलरिहा क्षेत्र के जंगल अयोध्या प्रसाद गांव के श्रीरामपुर टोला निवासी हीरालाल के बेटे राणा प्रताप का शव शुक्रवार की सुबह सोनबरसा जंगल समय माता स्थान के पास मिला था। सिर पर डण्डे से प्रहार कर उसे मौत के घाट उतारा गया था। दुर्घटना का रूप देने के लिए बदमाश उसके ऊपर बाइक गिराकर चले गए थे। गुलरिहा इंस्पेक्ट रवि कुमार राय घटना की तफ्तीश में जुटे तो मालूम चला कि आशनाई में राणा प्रताप की हत्या की गई। 

मोबाइल सर्विलांस एवं अन्य पर्याप्त साक्ष्य मिलने के बाद पुलिस तीन आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। शनिवार को दोपहर तकरीबन डेढ़ बजे पुलिस ने तीनों आरोपितों को बेनीगंज के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उनकी पहचान गुलरिहा क्षेत्र के जंगल अयोध्या गांव के दरोगा टोला निवासी रामकेश यादव, खुटहनखास गांव के टोला सोनबरसा निवासी राकेश यादव और मूलत: पिपराइच क्षेत्र के पतरा व वर्तमान पता चिलुआताल के मिर्जापुर निवासी पन्नेलाल बेलदार के रूप में हुई। रामकेश एक महिला के साथ पन्नेलाल के घर किराये पर कमरा लेकर रहता था। 

शराब पिलाकर उतारा मौत के घाट
पुलिस की पूछताछ में आरोपित रामकेश यादव ने बताया कि उसका एक महिला से प्रेम संबंध था। वह उस महिला के साथ पन्नेलाल के घर किराए पर कमरा लेकर रहता था। राणा प्रताप भी उस महिला से मिलने-जुलने लगा था। मना करने के बाद भी वह मान नहीं रहा था। इसके बाद वह उसे ठिकाने लगाने का योजना बनाया। घटना वाले दिन पन्नेलाल राणा प्रताप को घर से बुलाकर ले आया। वह पहले शराब पीये और नशे में होने के बाद गुरुवार शाम तकरीबन 6.30 बजे राणा को उसकी बाइक से ही लेकर सोनबरसा जंगल में पहुंचे। वहां रामकेश और राकेश ने डण्डे से उसके सिर पर प्रहार कर दिया। इससे उसकी मौत हो गई। इस हत्याकांड को दुर्घटना का रूप देने के लिए वे राणा के ऊपर बाइक गिराकर फरार हो गए। उसकी मौत हुई है कि नहीं, इसकी जांच करने को वह एक घंटे बाद दोबारा मौके पर पहुंचे थे। 

पिता ने विवाद में हत्या का लगाया था आरोप
हीरालाल भाजपा के बूथ अध्यक्ष हैं। उन्होंने पुलिस को तहरीर देकर पूर्व में हुए विवाद में हत्या करने का आरोप लगाया था। उन्होंने नामजद तहरीर भी पुलिस को दी थी। लेकिन पुलिस की तफ्तीश में मामला कुछ और निकला। परिजनों के संतुष्ट होने के बाद पुलिस ने घटना का खुलासा किया। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:rana pratap murder case open friends killed bjp leader son in Gorakhpur