DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करंट लगने से हो गई थी रामसहाय की मौत, बिजली निगम की लापरवाही की जांच शुरू

रुस्तमपुर उपकेन्द्र से जुड़े महुई सुघरपुर पोखरा टोला में गुरुवार को करंट से हुई राम सहाय की मौत की जांच शुरू हो गई है। मामले की जांच के लिए रूस्तमपुर क्षेत्र के एसडीओ प्रमोद कुमार जायसवाल ने विद्युत सुरक्षा निदेशालय को रिपोर्ट भेजी है। अब अगले तीन-चार दिन में जांच पूरी होने की उम्मीद है। विद्युत सुरक्षा निदेशालय के अवर अभियंता एके वर्मा ने बताया कि गुरुवार को हुए हादसे की प्राथमिक जांच रिपोर्ट क्षेत्र के एसडीओ ने भेजी है। अब हमारी टीम मौके पर जाकर जांच करेगी। जांच तीन से चार दिन में पूरी कर रिपोर्ट से प्रशासन को अवगत करा दिया जाएगा। एसडीओ पीके जायसवाल के मुताबिक हादसे का कारण उपभोक्ता की ओर से बिना सूचना दिए सर्विस केबल में आए फाल्ट को दुरुस्त करना बताया गया है। बकौल एसडीओ,उपभोक्ता ने सर्विस केबल टूटने की शिकायत भी उपकेन्द्र या अवर अभियंता से भी नहीं दर्ज कराया था। हालांकि, मोहल्ले के लोगों का कहना है कि जिस तार से गुरुवार को दुर्घटना हुई वह तीन पहले से गिरा हुआ था। आंधी के बाद गिरे इस तार की मरम्मत करने जब कोई नहीं पहुंचा तो रामसहाय उसे खुद ठीक करने लगे। उसी के चलते हादसा हुआ और उनकी जान चली गई। अब यदि विद्युत सुरक्षा निदेशालय की जांच में बिजली विभाग की लापरवाही उजागर होती है तो पीड़ित परिवार को 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता मिल सकेगी। ये था मामला महुई सुघरपुर निवासी रामसहाय के घर के पास तीन दिन पहले आंधी-पानी से खम्भे से सर्विस केबल टूट कर गिर गया था। मोहल्लेवासियों के मुताबिक बिजली निगम को तार टूटने की सूचना दी गई, लेकिन अफसरों ने ध्यान नहीं दिया। राम सहाय ने गुरुवार को खुद तार ठीक करने की कोशिश की। उसी दौरान करंट की जद में आकर उसकी मौत हो गई। इसके बाद आक्रोशित घरवाले और क्षेत्रीय लोग सड़क पर उतर आए। दो फीडर की बिजली काटकर सड़क जाम कर दिया। युवक के पिता पंचम की तहरीर पर खोराबार पुलिस ने बिजली निगम के खिलाफ केस दर्ज किया और जाम खुलवाया ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ramsahay died by electric shock, Enquiry starts