DA Image
2 अगस्त, 2020|4:42|IST

अगली स्टोरी

तैयार हो रहा है बदमाशों की सम्पत्ति का लेखा-जोखा

तैयार हो रहा है बदमाशों की सम्पत्ति का लेखा-जोखा

अपराध की कमाई से बदमाशों द्वारा जुटाई गई अकूत सम्पत्ति अगले कुछ दिनों में जब्त कर ली जाएगी। पुलिस और प्रशासन की टीम इस काम में जुट गई है। बदमाशों की सम्पत्ति का लेखा-जोखा तैयार किया जा रहा है। राजस्व टीम के अलावा खुफिया विभाग को भी इसमें लगाया गया है। इस बीच बदमाश अपनी सम्पत्ति किसी को बेच न दें इसके लिए रजिस्ट्री कार्यालय पर भी नजर रखी जा रही है। इस बार जिस हिसाब से ब्योरा जुटाया जा रहा है और फाइल बनाई जा रही है इसके पीछे की बड़ी वजह यही है कि यह सम्मति बदमाश बाद में किसी भी हाल में कोर्ट से रिलीज न करा पाएं। उम्मीद यही है कि 15 अगस्त से पहले पुलिस और प्रशासन की टीम बदमाशों की सम्पत्ति जब्ती को लेकर बड़ा धमाका करने की तैयारी में है।

कानपुर में विकास दुबे एनकाउंटर के बाद यूपी सरकार ने एक बार फिर अपराध से बनाई गई बदमाशों की सम्पत्तियों को जब्त करने का निर्देश दिया है। इसी के बाद प्रदेश के सभी जिलों में टॉप 10 से लेकर टॉप 100 तक बदमाशों की सूची बनाई गई है। इन बदमाशों के खिलाफ जारी अन्य कार्रवाई के साथ ही इनकी सम्पत्ति भी पुलिस और प्रशासन के निशाने पर है। यही वजह है कि हर जिले में 14 (1) की कार्रवाई के तहत पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीम बदमाशों की सम्पत्ति का लेखा-जोखा तैयार कर रही है। पुलिस की तरफ से प्रशासन को बदमाशों की सूची सौंपी गई है।

राजस्व टीम उनके सारे रिकार्ड खंगाल रही है। वहीं खुफिया विभाग को भी यह पता करने के लिए लगाया गया है कि बदमाशों ने अपने नाम के अलावा कितनी बेनामी सम्पत्ति बनाई है। उसकी अलग से सूची तैयार हो रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक राजस्व टीम की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उनकी तरफ से दिए गए लेखा-जोखा को भी खुफिया टीम चेक करेगी। यह इस वजह से की कहीं राजस्व टीम किसी बदमाश की सम्पत्ति को छिपाने की कोशिश न कर पाए।

दो साल में नहीं हो पाई है एक भी 14 (1) के तहत जब्ती

पिछले दो साल में बदमाशों की अभी तक कोई सम्पत्ति जब्त नहीं हो पाई है। उससे पहले कुछ बदमाशों की सम्पत्ति जब्त की गई थी लेकिन कइयों ने कोर्ट से रिलीज करा ली है। इससे पहले बदमाशों की सम्पत्ति जब्त करने की जल्दबाजी में पुलिस द्वारा किसी न किसी तरह की चूक कर दी जाती थी, जिससे उन्हें कोर्ट से बाद में राहत मिल जाती है। यही वजह है कि इस बार हर स्तर से ठोक-बजा कर ही पुलिस और प्रशासन की टीम फाइल को अन्तिम रूप देने में जुटी है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक 15 अगस्त से पहले तक कुछ बदमाशों की सम्पत्ति जब्त की जा सकती है।

बोले एसएसपी

बदमाशों की सम्पत्ति जब्त करने के लिए पूरा लेखा-जोखा तैयार किया जा रहा है। राजस्व टीम उनके सम्पत्ति का रिकार्ड निकाल रही है। खुफिया टीम जानकारियां जुटा रही है। गोपनीय तरीके से फाइल तैयार की जा रही है। ऐसी फाइल बनाई जा रही है कि बदमाशों को आगे जाकर भी किसी भी तरह का लाभ न मिल पाए। बदमाश अपनी सम्पत्ति बेच न पाए इस पर भी नजर रखी जा रही है। बहुत जल्द ही हम जब्ती के मामले में कार्रवाई करते हुए नामों का खुलासा करेंगे।

डा. सुनील गुप्ता, एसएसपी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Preparation of accounts of miscreants