ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुरसत्ता संग्राम: नाराज कमाण्डो कमल किशोर को मनाने में जुटे कांग्रेसी

सत्ता संग्राम: नाराज कमाण्डो कमल किशोर को मनाने में जुटे कांग्रेसी

गोरखपुर। मुख्य संवाददाता बांसगांव लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी सदल प्रसाद के समर्थन में...

सत्ता संग्राम: नाराज कमाण्डो कमल किशोर को मनाने में जुटे कांग्रेसी
हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरTue, 14 May 2024 09:30 AM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर। मुख्य संवाददाता
बांसगांव लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी सदल प्रसाद के समर्थन में राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की मंगलवार को जनसभा के पहले पूर्व सांसद कमाण्डो कमल किशोर ने बगावती तेवर दिखाकर कांग्रेस को सकते में डाल दिया। सोमवार को बांसगांव लोकसभा क्षेत्र से निर्दलीय नामांकन की उनकी तैयारियों की जानकारी मिलते ही गोरखपुर में डेरा डाले कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव उत्तर प्रदेश पूर्वी जोन प्रभारी विधायक सत्य नारायण पटेल की अगुवाई में कई बड़े नेता कमाण्डो के आवास पर उन्हें मनाने पहुंचे। मुलाकात के बाद जहां सत्य नारायण पटेल ने दावा किया कि कमाण्डो कमल किशोर को मना लिया है। वही, कमाण्डो कमल किशोर ने हिन्दुस्तान को बताया कि वे उनकी कुछ शर्ते हैं, यदि उन पर फैसला नहीं लिया जाता है तो निर्दलीय नामांकन करेंगे। मंगलवार की सुबह भी कांग्रेस के कई नेता कमाण्डो को मनाने के लिए उनके आवास पर पहुंचे हैं।

असल में इंडिया गठबंधन में सीट बटवारे में बांसगांव लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में आई। यहां लम्बे समय से लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे पूर्व सांसद कमाण्डो कमल किशोर, बसपा से कांग्रेस में आए सदल प्रसाद को टिकट दिए जाने का शुरू से ही विरोध कर रहे हैं। कौड़ीराम समेत बांसगांव लोकसभा क्षेत्र में टिकट की घोषणा के बाद भी उनके पोस्टर चस्पा हो गए थे। प्रत्याशी बदलने की मांग भी उठी लेकिन प्रत्याशी नहीं बदला और सदल प्रसाद ने नामांकन भी कर दिया। उधर कमाण्डो ने सोमवार को नामांकन पत्र मंगाकर उसे भरने के साथ जरूरी दस्तावेज जुटाने शुरू कर दिए। इसकी सूचना मिलते ही उन्हें मनाने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सत्य नारायण पटेल, केशव चंद यादव, अमरेंद्र मल्ल, अवधेश सिंह, मनोज यादव, रामजी गिरि समेत कई नेता उनके आवास पहुंचे। जहां उन्होंने कमाण्डो कमल किशोर की दिवंगत पत्नी पूनम किशोर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उसके बाद कमाण्डो कमल किशोर की बात सुनी। कमाण्डो कमल किशोर ने सत्य नारायण पटेल को अवगत कराया कि वह कांग्रेस के सच्चे सिपाही है लेकिन उनके संघर्ष को दरकिनार कर बाहरी लोगों को चुनाव में टिकट दिया जाता है। ऐसे लोग चुनाव बाद पार्टी छोड़कर चले जाते हैं। उन्होंने कहा कि उनकी प्रतिष्ठा के हिसाब से पार्टी में उन्हें कोई दायित्व भी नहीं मिला। फिलहाल कमाण्डो कमल किशोर को मनाने की सोमवार से शुरू कोशिशें मंगलवार को भी जारी हैं। उधर नामांकन का भी आज आखिरी दिन है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।