DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रांसफार्मर जलते ही एक्टिव हो गई बिजली अधिकारियों की टीम

गोरखपुर। कार्यालय संवाददाता
एफसआई परिसर स्थित 33 केवी विद्युत उपकेन्द्र का पावर ट्रासंफार्मर ओवरलोड की वजह से रविवार की रात 9 बजे फूंक गया। लिहाजा एसएसबी, आकाशवाणी, भटहट और सिक्टौर क्षेत्र में बिजली आपूर्ति ठप हो गई। सूचना के बाद मौके पर पहुचे अधिकारियों ने आनन-फानन में वैकल्पिक व्यवस्था से एसएसबी और आकाशवाणी की निर्वाध बिजली आपूर्ति बहाल की। जबकि भटहट और सिक्टौर क्षेत्र में 12 घण्टे के रोस्टर से बिजली आपूर्ति की जा रही है। 

अधिकारियों का कहना है कि वाराणसी से मंगलवार की शाम तक पावर ट्रांसफार्मर आने की उम्मीद है। उसके आने और लगने के बाद बिजली आपूर्ति सामान्य होने में दो दिन का वक्त लगेगा। बिजली निगम के मुताबिक एफसीआई 33 केवी उपकेन्द्र में 5 एमवीए के दो ट्रांसफार्मर लगे है। रविवार की रात ओवरलोड की वजह से एक ट्रांसफार्मर दग गया। नतीजा चार फीडर बंद हो गए। सूचना पर तकनीकी टीम जांच करने पहुची। जांच पड़ताल के बाद रात 9 बजे टीम ने ट्रांसफार्मर को जला घोषित किया।

इसके बाद प्रभावित क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति बहाल करने की कोशिश शुरू हुई। एसएसबी परिसर और आकाशवाणी की निर्वाध बिजली आपूर्ति में ठप होने से अधिकारियों के हाथ -पाव फूल गए। आनन-फानन में वैकल्पिक व्यवस्था बनाकर दूसरे ट्रांसफार्मर से एसएसबी और आकाशवाणी की बिजली आपूर्ति बहाल की गई। जबकि भटहट और सिक्टौर फीडर को 12 घण्टे के रोस्टर के मुताबिक बिजली आपूर्ति दी जा रही है। मंगलवार को भटहट और सिक्टौर क्षेत्र में उपभोक्ता गर्मी व उमस से परेशान रहें। सुबह बिजली कटी रहने से घरों में पानी मोटर नहीं चले। ऐसे में लोगों की दिनचर्या प्रभावित हो गई।

उपकेन्द्र के जले ट्रांसफार्मर को बदलने के लिए वाराणसी से ट्रांसफार्मर आवंटित हुआ है। मंगलवार की शाम तक ट्रांसफार्मर आने की उम्मीद है। उसके लगने के बाद दो दिन में आपूर्ति सामान्य हो जाएगी। वैकल्पिक व्यवस्था से एसबीआई और आकाशवाणी को निर्वाध बिजली दी जा रही है। 
एके श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियंता,ग्रामीण वितरण मण्डल 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Power Corporation Officers team active just after Transformer burn