DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डाकघर का किराया 6 रुपये, वो भी कोई लेने वाला नहीं


डाकघर का किराया 6 रुपये, वो भी कोई लेने वाला नहीं

यकीन हो या नहीं लेकिन यह सच है। सिविल लाइंस जैसे वीआईपी क्षेत्र में कार्मल स्कूल के सामने लेबर कैंप स्थित उप डाकघर भवन का किराया सिर्फ 6 रुपये है। उसे भी कोई लेने वाला नहीं है। वित्तीय वर्ष पूरा होने के बाद यह रकम मुख्यालय को लौटा दी जाती है।

लेबर कैंप परिसर में 1983 में स्थापित इस उप डाकघर का शुरूआती किराया सिर्फ 25 पैसे था। बीते कुछ वर्षों तक किराये में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई थी। करीब दो साल पहले किराया बढ़ाकर 6 रुपये कर दिया गया। डाक विभाग के मुख्यालय से वर्तमान में नियमित रूप से 6 रुपये किराया भेजा जा रहा है। उप डाकघर के जिम्मेदारों की मुश्किल यह है कि इस किराये को कोई लेने वाला नहीं है।

बता दें कि जहां डाकघर संचालित हो रहा है, वहां अंग्रेजों के समय में लेबर कैंप होता था। यहां कोयला की खदानों के लिए भेजे जाने को मजदूरों का चयन होता था। पहले यह परिसर श्रम विभाग के कब्जे में था, लेकिन वर्तमान की स्थिति को लेकर कोई बताने वाला नहीं है। उपडाकघर के उप डाकपाल रामदरश प्रसाद का कहना है कि बीते अगस्त महीने से कार्यरत हूं। किराया लेने वाला कोई नहीं है। वित्तीय वर्ष पूरा होने के बाद रकम वापस कर दी जाती है।

52 डाकघर किराये के भवन में

मुख्य डाकघर को छोड़कर सभी 52 डाकघर किराये पर संचालित हो रहे हैं। सिर्फ पार्करोड और कूड़ाघाट स्थित मुख्य डाकघर का भवन डाक विभाग का है। शहर में कई डाकघर जर्जर भवन में संचालित हो रहे हैं। मामूली किराये के चलते मकान मालिक मरम्मत कराने से भी बचते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:post office rent is only Rs6 then also nobody is taking