Positive thoughts and hard work will give better results - सकारात्मक विचार और परिश्रम से मिलेगा बेहतर परिणाम DA Image
19 फरवरी, 2020|11:54|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सकारात्मक विचार और परिश्रम से मिलेगा बेहतर परिणाम

सकारात्मक विचार और परिश्रम से मिलेगा बेहतर परिणाम

शैक्षिक यात्रा का एक पड़ाव है परीक्षा। छात्र आत्मविश्वास के साथ संयत मन से परीक्षा दें। समय प्रबंधन और परिश्रम से ही उत्कृष्ट परिणाम पाया जा सकता है। परीक्षा आपके सम्पूर्ण ज्ञान का मूल्यांकन नहीं करती, इसलिए क्षणिक सफलता या असफलता से आगे बढ़कर नई चुनौतियों के समक्ष खुद को तैयार करिए।

यह कहना है दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.वीके सिंह का। उन्होंने शुक्रवार को परीक्षा से पहले छात्रों को टिप्स दिए। विश्वविद्यालय में पहली बार इस प्रकार का कार्यक्रम आयोजित हुआ। उन्होंने कहा कि नकारात्मकता को समाप्त कर सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ छिपी क्षमताओं को उजागर करना होगा। परीक्षा फोबिया से बचते हुए सीखने की प्रक्रिया को मजबूत बनाइये। एकाग्रता के स्तर को उंचा रखिये सफलता स्वयं मिलेगी।

कार्यक्रम समन्वयक प्रो. अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि सफलता के लिए अनुशासन, कठिन परिश्रम और सकारात्मक दृष्टिकोण की जीवन में अहम भूमिका होती है। सकारात्मक सोचे और अपने लक्ष्य पर केंद्रित रहें। कार्यक्रम में प्रतिकुलपति प्रो. हरिशरण और क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. अश्विनी मिश्रा ने भी उपस्थित होकर विद्यार्थियों को प्रेरित किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. मनीष पाण्डेय ने किया।

कार्यक्रम में इनकी रही उपस्थिति

प्रो. जितेंद्र मिश्रा, प्रो. डीएन यादव, प्रो. हर्ष सिन्हा, प्रो. नंदिता सिंह, प्रो. शिखा सिंह, प्रो. विनय कुमार सिंह, डॉ. सुधाकर लाल श्रीवास्तव, प्रो. संजय बैजल, डॉ. राजवीर सिंह, डॉ अमित उपाध्याय, डॉ टीएन मिश्रा, डॉ आशीष शुक्ला, डॉ पंकज सिंह, डॉ मीतू सिंह, डॉ लक्ष्मी मिश्रा, डॉ महेंद्र सिंह, पीएन सिंह, महेंद्र सिंह, डॉ हर्ष देव वर्मा, डॉ. जीपी सिंह, डॉ देवेंद्र पाल, डॉ स्वेता, डॉ अभय चंद मल्ल, डॉ. शिवपूजन सिंह, डॉ प्रदीप कुमार, डॉ विजय चहल, डॉ धर्मेंद्र, अश्विनी त्रिपाठी, झुम्पा मंडल सरकार, दिव्या शर्मा, श्वेता पटेल

कुलपति ने छात्रों को दिए सफलता के मंत्र

- थोड़ा पढ़ें लेकिन नियमित पढ़ें।

- अपने भीतर की नकारात्मकता को समाप्त करें

- परीक्षा फोबिया से बचें, नियमित अध्ययन और आत्मविश्वास से ही यह हो जाएगा दूर

- तनाव होने पर लंबी व गहरी सांस लें बढ़ेगी मस्तिष्क की शक्ति

- योग और ध्यान के माध्यम से मस्तिष्क को एकाग्र करें।

- टार्गेट स्टडी पर ध्यान दें

- यादाश्त को बढ़ाने के लिए विषय का कीवर्ड तैयार करें

- असफलता अंतिम नहीं होती, सफलता से भी लें

- नकारात्मकता को दूर करने में माता-पिता और गुरु की सहायता लें

- लक्ष्य हमेशा स्पष्ट होना चाहिए

- कॉपी में साफ सुथरा लिखें, ग्राफ बनाने में करें पेंसिल का प्रयोग

- निरंतन कुछ न कुछ सीखने की प्रवृत्ति करें विकसित

- परिश्रम से जाग्रत होता है आत्मविश्वास

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Positive thoughts and hard work will give better results