DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Gorakhpur Police Encounter: अचूक है निशाना, इस बार भी पैर में लगी गोली

गोरखपुर पुलिस का निशाना एकदम अचूक है। पुलिस का जब भी बदमाशों से मुठभेड़ होता है तब वह अपने इसी अचूक निशाने से उनके पैर में गोली मारकर उन्हें दबोच ले रही है। यही नहीं पुलिस की गोली एकदम नियम के अनुरुप बदमाशों के घुटनों के नीचे ही लग रही है। जिससे उनकी जान न जाए। अब तक हुए चार मुठभेड़ में चचेरे भाइयों सहित पांच बदमाशों को पुलिस ने इसी तरह के मुठभेड़ में गिरफ्तार किया है। सभी के पैर में ही गोली लगी। 

4 मुठभेड़ में 5 बदमाशों के पैर में लगी है पुलिस की गोली
खास बात यह है कि मुठभेड़ में बदमाश तो बदलते रहे पर खोराबार इंस्पेक्टर कहीं न कहीं से बदमाशों का पीछा करते हुए जरूर पहुंच गए। अब तक हुए चारों मुठभेड़ में इंस्पेक्टर सुधीर सिंह प्रत्येक मुठभेड़ में शामिल हुए और ज्यादातर में उनके बांह में चोट भी आई।

11 अगस्त भोर में 4 बजे 
गोरखपुर-देवरिया मार्ग पर झंगहा के दुबियारी पुल के पास पुलिस मुठभेड़ में अच्छेलाल यादव के साथी हरिओम कश्यप को पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार किया। 25 हजार रुपये के इनामी हरिओम के बाएं पैर में पुलिस की गोली लगी और वह भाग नहीं पाया। बदमाशों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। उनकी फायरिंग से गोली तो किसी को नहीं लगी पर दो दरोगा और एक सिपाही को हल्की चोट आई। झंगहा थानेदार के साथ खोराबार थानेदार की घेराबंदी कर की गई फायरिंग में बदमाश पर काबू पाया गया।

24 जुलाई रात 10.30 बजे 
खोराबार के कुसम्ही रेलवे क्रॉसिंग के पास पुलिस और बदमाशों के मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी शिवसरन साहनी के पैर में पुलिस की गोली लगी और वह गिरफ्तार हो गया है। डिप्टी रेंजर पर हमले के आरोपी शिवसरन का साथी फरार हो गया। इस दौरान बदमाशों की ओर से चली गोली में दरोगा दीपक सिंह को गोली छूकर निकल गई तो खोराबार के इंस्पेक्टर सुधीर सिंह, एसएसआई अनिल कुमार, मनोज कुमार, स्वॉट टीम के शशिकांत राय, राशीद खान, ब्रजेश द्विवेदी, सनातन सिंह भी घायल हो गए।

2 फ़रवरी 3.30 बजे तड़के
नई बाजार के व्यवसाई दिनेश गुप्ता की दुकान में घुसकर हत्या कर फरार चल रहे 50 हजार के इनामी चचेरे भाइयों मनीष यादव और मनोज यादव को पुलिस ने खोराबार के रामनगर कडजहां से मुठभेड़ में गिरफ्तार किया। यहां भी पुलिस का निशाना एकदम सटीक था। दोनों बदमाशों के पैर में पुलिस की गोली लगी थी। जबकि उनकी फायरिंग से एसओ खोराबार सुधीर सिंह और पूर्व झंगहा एसओ सुनील सिंह को हल्की चोट आई। 

9 जनवरी 10.30 बजे
खोराबार इलाके में सिक्टौर के पास रात में हुई मुठभेड़ में गोली लगने से शातिर बदमाश अमित घायल हो गया। उसके बाएं पैर में घुटने के नीचे गोली लगी थी। जबकि उसका एक साथी पुलिस से बचकर भाग निकला था। खोराबार के मंझरिया बिस्टौल गांव निवासी अमित लुटेरा था। राजघाट के पास वाहन चेकिंग के बाद बदमाशों का पीछा करते हुए सिक्टौर के पास घेराबंदी कर खोराबार इंस्पेक्टर सुधीर सिंह और उनकी टीम ने गिरफ्तार किया। अमित ने पुलिस पर फायरिंग की थी। हालांकि इस बार कोई पुलिसवाला नहीं घायल हुआ था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police is sure to target this time also a shot in the leg