DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाह! न दर्ज होगा चोरी का मुकदमा और ना ही रहेगा खुलासे का दबाव

वाह! न दर्ज होगा चोरी का मुकदमा और ना ही रहेगा खुलासे का दबाव

यह तो महज बानगी भर है। सिकरीगंज क्षेत्र में पुलिस की रात्रि गश्ती पर सवाल खड़ा करते हुए चोर दो माह में दर्जनों चोरी की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। इसमें कुछ घटनाओं का तो पुलिस ने चोरी का मुकदमा दर्ज किया लेकिन कई चोरी की घटना के महीने भर बाद भी मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने का चक्कर काटने को मजबूर हैं।

केस-एक

सिकरीगंज क्षेत्र के बुधनापार गांव में दो अप्रैल को विनोद दूबे के घर चोरी की घटना को अंजाम देकर चोर दस हजार नकदी समेत कीमती गहने उठा ले गए। घटना की सूचना के बाद भी पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया।

केस-दो

सिकरीगंज क्षेत्र के महुई गांव में तीजा देवी के घर पीछे से सेंध लगाकर चोर जेवर, कपड़ा आदि सामान चुरा ले गए। पीड़िता ने चोरी की तहरीर पुलिस को दी लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया।

जिसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीण अरविन्द कुमार, राजाराम यादव, श्रीनिवास भारती, धीरेन्द्र, मनोहर आदि का कहना है कि पुलिस अपना नाकामी छिपाने के लिए चोरी का मुकदमा दर्ज नहीं कर रही है। दो माह में दर्जनों चोरी की घटना हो चुकी है लेकिन अभी तक एक का भी खुलासा नहीं हो पाया है। इसके चलते पुलिस अब चोरी की घटना का मुकदमा दर्ज करने से ही बच रही है। वह न तो मुकदमा दर्ज करेगी और न ही उस पर खुलासे का दबाव रहेगा। इस संबंध में एसपी दक्षिणी विपुल कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि चोरी की घटना का मुकदमा दर्ज नहीं करने के आरोप की जांच कराई जाएगी। आरोप सही मिलने पर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिन घटनाओं का खुलासा नहीं हो पाया है, हल्का दरोगा से उसकी रिपोर्ट ली जाएगी।

एक ही रात सात घरों में हो चुकी है चोरी

सिकरीगंज क्षेत्र के बरपरवा गांव में 5 जून की रात सात घरों में ताबड़तोड़ चोरी की वारदात को अंजाम देकर हड़कम्प मचा दिया। इस घटना में भी पुलिस ने केवल चार लोगों का ही मुकदमा दर्ज किया है। तीन पीड़ित अभी भी मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने का चक्कर काट रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police is not registering FIR of theft cases in Gorakhpur