Performing on sloganeering dirty water on the waterfalls in Gorakhpur - गोरखपुर में जलभराव को लेकर नारेबाजी, गंदे पानी पर प्रदर्शन DA Image
16 दिसंबर, 2019|7:58|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोरखपुर में जलभराव को लेकर नारेबाजी, गंदे पानी पर प्रदर्शन

जल जमाव, शुद्ध जलापूर्ति और साफ-सफाई को लेकर गोरखपुर नगर निगम की कवायद फ्लाप साबित हो रही है। गुरुवार को नौसढ़ इलाके में एक मोटर व्यवसायी के वर्कशाप से निकलने वाले अपमार्जित जल से प्राथमिक विद्यालय में हो रहे जल जमाव से नाराज स्थानीय लोगों ने उक्त कम्पनी का घेराव किया। वहीं लालडिग्गी क्षेत्र में मिनी नलकूप से होने वाली जलापूर्ति से गंदा पानी आने से नाराज नागरिकों ने प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया।

नौसढ़ संवाद के अनुसार गुरूवार को नौसढ़ वार्ड संख्या 19 मे पार्षद प्रतिनिधि कृष्णमोहन यादव उर्फ़ लल्लू पहलवान के नेतृत्व मे सैकड़ों की संख्या में पुरुष महिलाएं व बच्चे वर्कशाप पर एकत्र हुए व मांग करने लगे कि सरदार मोटर व वर्कशॉप से प्रतिदिन गाडियों की धुलाई से निकल रहे गंदे पानी से नौसढ़ व जवाहर चक इलाके मे रास्ते में पानी लग जाता है। जबकि पास मे ही स्थित प्राथमिक विद्यालय के बच्चे पानी में घुस कर अंदर बाहर जाने के लिए मजबूर है। वर्कशाप के कर्मचारी ने बताया कि मालिक अभी नहीं है,जल्द ही पानी से हो रहे समस्या का विकल्प निकाल लिया जायेगा। सूचना पाकर  मौके पर पहुंचे नौसढ़ चौकी प्रभारी विक्रम सिंह के साथ नौसढ़ व जवाहर चक इलाके का निरीक्षण किया। तब जाकर पार्षद प्रतिनिधि व जनता के बीच  वर्कशाप के कर्मचारियों ने कहा कि जल्द ही इस समस्या का हल निकाल लिया जायेगा।

गंदे पानी से होकर गुजरते हैं स्कूली बच्चे
वर्कशाप से निकलने वाले गंदे पानी के चलते नौसढ़ स्थित प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने जाने वाले बच्चों को दुश्वारियां झेलनी पड़ती हैं। स्कूली बच्चों  का कहना है कि गंदे पानी के चलते जूता उतारकर स्कूल जाना पड़ता है। स्कूल के शिक्षक नुजहर का कहना है कि गंदे पानी से उठने वाली बदबू से पढ़ाई नहीं हो पाती है। बच्चे बीमार भी हो जाते हैं। 

मिनी ट्यूबवेल से गंदे आपूर्ति से फूटा नागरिकों का गुस्सा
लालडिग्गी हनुमान चक में स्थापित मिनी नलकूप से गंदे पानी की सप्लाई से नाराज लोगों ने गुरूवार को प्रर्दशन किया। इसकी सूचना पर पंहुचे अधिकारी ने इसे जल्द ठीक कराने का आश्वासन दिया जिसके बाद नागरिकों ने अपना विरोध प्रर्दशन बंद किया।

वार्ड की सुनीता जायसवाल ने बताया कि सप्लाई में गंदा पानी आने हम लोगों को पीने के पानी के लिए तरसना पड़ रहा है। इसकी शिकायत करने के बाद भी अधिकारियों ने कोई सुधि नहीं ली। जिसके बाद हम लोगों को मजबूर होकर प्रदर्शन करना पड़ा। लालडिग्गी की ही रश्मि देवी ने बताया कि हम लोग गंदा पानी पीने को मजबूर है। उसकी कहीं भी कोई सुनवाई न होने के बाद हम लोग धरना देने के लिए मजबूर हुए।

सूचना के बाद मौके पर पंहुचे जल निगम के मुख्य अभियन्ता के आश्वासन के बाद नागरिकों ने प्रदर्शन खत्म किया। उन्होनें पुरानी पानी की टंकी से लाइन जोड़कर शुद्ध जलापूर्ति की बात कहीं और जल्द ही बड़ी ट्यूबवेल लगाने का आश्वासन भी दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Performing on sloganeering dirty water on the waterfalls in Gorakhpur