DA Image
13 अगस्त, 2020|7:51|IST

अगली स्टोरी

lockdown: कोरोना काल में मच्‍छरों ने किया जीना हराम, लोगों को सता रहा दूसरी बीमारियों का डर

लॉकडाउन में कोरोना का डर लोगों को डरा रहा है लेकिन मोहल्लों और कालोनियों में साफ-सफाई बेहतर न होने तथा छिड़काव और फागिंग की व्यवस्था न कराए जाने से नागरिक घबरा रहे हैं। उन्हें यह चिंता सताने लगी है कि वे कोरोना से बचने के लिए घरों में कैद हैं और बढ़ता मच्छरों का प्रकोप कोई और बीमारी फैला दे। लोगों ने सोमवार को ‘हिन्दुस्तान हेल्-प लाइन’ पर अपनी समस्याएं साझा की हैं और प्रशासन तथा नगर निगम से साफ-सफाई कराने की गुहार लगाई है।

सिद्धार्थ इन्क्लेव स्थित रेल विहार कालोनी के लोग सफाई न होने से परेशान हैं। इस कालोनी के आधा दर्जन लोगों ने हिन्दुस्तान हेल्पलाइन पर फोन कर अपनी समस्या बताई है। कालोनी के सुशील कुमार का कहना है कि लॉक डाउन में सफाई और छिड़काव न होने से दिक्कत हो रही है। मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है।  उनका कहना है कि जीडीए के अधिकारी यह कहकर उनकी बात टाल जा रहे हैं कि उनकी कालोनी प्राइवेट है। लोगों ने बताया कि केवल नाम रेलवे इन्क्लेव है जबकि इस कालोनी से रेलवे का कोई लेना-देना नहीं है। 

जाफरा बाजार निवासी इजहार अली ने कहा है कि उन्होंने कई बार नगर निगम तक अपनी समस्या पहुंचाई लेकिन समाधान नहीं हो सका है। इजहार अली ने कहा कि उनकी कालोनी में न तो सफाई हो रही है और न ही छिड़काव हो पा रहा है। फागिंग भी नहीं कराई जा रही है। उन्होंने प्रशासन से गुहार लगाई है कि उनकी कालोनी में सफाई और छिड़काव कराया जाए।
नरसिंहपुर निवासी अशोक ने कहा कि उनके मोहल्ले में छिड़काव नहीं कराया गया। लॉक डाउन की वजह से लोग अपने घरों के रह रहे हैं। सड़कों पर कूड़ा-कचरा फैला हुआ है। नालियां बजबजा रही हैं। मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है लेकिन सफाई और छिड़काव नहीं हो रहा है। 

उन्होंने प्रशासन से सफाई और छिड़काव कराने की गुजारिश लगाई है। राजीव नगर कालोनी निवासी धीरेंद्र ने नगर निगम के अधिकारियों से गुजारिश की है कि कालोनी में सफाई कराई जाए। जलनिकासी की व्यवस्था कराई जाए नहीं तो उनके जैसे दर्जनों परिवारों के सामने संकट खड़ा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कालोनी के लोग घबराए हुए हैं कि गंदगी की वजह से कहीं कोई बीमारी न फैल जाए। 

विनोद द्विवेदी ने कहा कि विकासनगर में गंदगी की भरमार है। नालियां जाम है। सफाई नहीं हो पा रही है। जंगल हकीम नगर में भी सफाई न कराए जाने की शिकायत है। सैनिक कुंज निवासी केसर कुमार का कहना है कि उनकी कालोनी में गंदगी का अम्बार है। सफाई न होने से लोग घबराए हुए हैं। उन्होंने प्रशासन से सफाई करवाने की गुजारिश की है। गंगा नगर निवासी पंकज श्रीवास्तव ने भी गंदगी की शिकायत की है और सफाई-फागिंग कराने की गुजारिश की है।

माता-पिता को घर पहुंचाने को शिक्षक परेशान
बस्ती जिले के सोनहा क्षेत्र स्थित सोनबरसा गांव निवासी सदानंद गोरखपुर में शिक्षक हैं। सदानंद ने हिन्दुस्तान हेल्प लाइन पर फोन कर बताया कि  अपने माता-पिता की सेवा के लिए वह उन्हें अपने साथ गोरखपुर में ही रखते हैं।उन्होंने कहा कि इस समय फसलों की कटाई चल रही है जिससे उनके पिता काफी परेशान हैं। वह फसलों की कटाई कराने गांव जाना चाहते हैं। वह अपने माता-पिता को लेकर गांव जाना चाहते हैं लेकिन लॉक डाउन की वजह से जा नहीं पा रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। रामनगर कालोनी मोहद्दीपुर निवासी देवेंद्र तलवार ने कहा है कि उनकी बेटी प्रयागराज में फंसी हैं। वह लॉक डाउन की वजह से उसे बुला नहीं पा रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

सब्जी वालों का संकट महसूस करे प्रशासन
तारामंडल निवासी शेखर अपने बेटे के साथ सब्जी बेचते थे। सभासद ने लिखकर दिया था कि आप मंडी से सब्जियां लेकर बेचिए। अब हम लोग मंडी में जा रहे हैं तो पुलिस रोक दे रही है। जब हम सब्जियां खरीद ही नहीं पाएंगे तो बेचेंगे कहां से। और सब्जियां नहीं बेचेंगे तो हम खाएंगे क्या।

फसल कटवाने जाना है गांव
गोरखनाथ थाना क्षेत्र स्थित अंधियारीबाग निवासी अनिल निगम यहां शहर में फंसे हैं। उनका कहना है कि वह गेहूंकी फसल कटवाने गांव जानाचाहते हैं लेकिन लॉक डाउन की वजह से जा नहीं पा रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:peoples of different colonies in gorahpur are afraid of mosquito during corona lockdown