ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुरअब टाइम-टेबल में शामिल होंगी स्पेशल ट्रेनें, भीड़ होते ही चलेंगी

अब टाइम-टेबल में शामिल होंगी स्पेशल ट्रेनें, भीड़ होते ही चलेंगी

गोरखपुर। आशीष श्रीवास्तव 10 से 12 अप्रैल तक जयपुर में आयोजित आईआरटीटीसी की...

अब टाइम-टेबल में शामिल होंगी स्पेशल ट्रेनें, भीड़ होते ही चलेंगी
हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरTue, 16 Apr 2024 09:15 AM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर। आशीष श्रीवास्तव
10 से 12 अप्रैल तक जयपुर में आयोजित आईआरटीटीसी की बैठक में भले ही रूटीन नई ट्रेनों पर सहमति नहीं बन सकी लेकिन बैठक में यात्रियों के लिए एक अहम फैसला लिया गया है। नए फैसले के अनुसार हर बार त्योहारों और गर्मी की छुट्टियों में स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए अलग-अलग रेलवे की अनुमति लेने की जरूरत नहीं होगी। रूटीन ट्रेनों की तरह कुछ स्पेशल ट्रेनों को टाइम टेबल में शामिल कर लिया जाएगा और फिर जैसे ही कोई त्योहार आएगा तो पूर्व निर्धारित समय-सारणी के अनुसार स्पेशल ट्रेनें चला दी जाएंगी।

10 से 12 अप्रैल तक इंडियन रेलवे टाइम टेबल कमेटी की बैठक में देशभर से 200 से अधिक अफसर जुटे थे। बैठक में गोरखपुर के अफसर भी शामिल हुए। हालांकि उसमें पूर्व प्रस्तावित ट्रेनों पर सहमति तो नहीं बन सकी लेकिन स्पेशल ट्रेनों को रूटीन ट्रेनों की तरह टाइम टेबल में शामिल करने पर सहमति बन गई।

बैठक में गोरखपुर से होकर गुजरने वाली एक स्पेशल ट्रेन पर सहमति बनी है। ग्वालियर से बरौनी तक वाया गोरखपुर को इस शेड्यूल में शामिल कर लिया गया है। जल्द ही ऐसी ट्रेनों की सूची जारी कर दी जाएगी।

नई व्यवस्था से फायदे

दरअसल हर होली, दीपावली, दशहरा, छठ और गर्मी की छुट्टियों में स्पेशल ट्रेनें चलाई जाती हैं। ट्रेनों का शेड्यूल जारी करने से पहले अन्य रेलवे से सहमति लेनी पड़ती है। इस प्रक्रिया में सप्ताह भर का समय लग जाता है लेकिन जब इन्हें टाइम टेबल में शामिल कर लिया जाएगा तो निर्धारित ट्रेनें हर त्योहार और गर्मी की छुट्टियों में बिना किसी अन्य रेलवे की अनुमति के चला सकेंगे। इससे समय की तो बचत होगी ही साथ ही ट्रेनें समय पर भी चल सकेंगी।

किसी रूटीन ट्रेन पर नहीं बनी सहमति

नई ट्रेनों के टाइम टेबल को लेकर 10 से 12 अप्रैल तक जयपुर में हुई आईआरटीटीसी की बैठक में कोई अहम फैसला नहीं हो सका। गोरखपुर से गई परिचालन विभाग की टीम ने अपनी सभी प्रस्तावित ट्रेनों की टाइमिंग बैठक में रखीं लेकिन अन्य रेल से मेल न खाने की वजह से सहमति नहीं हो सकी। गोरखपुर से गोरखपुर-नई दिल्ली, गोरखपुर आगरा फोर्ट वंदेभारत के साथ ही गोरखपुर-मालतीपतपुर, गोरखपुर-बांद्रा और गोरखपुर मडगांव के लिए प्रस्ताव तैयार किया था। बारी-बारी सभी ट्रेनों पर चर्चा हुई लेकिन सहमति किसी पर नहीं बनी। गोरखपुर-आगरा फोर्ट वंदेभारत पर एनसीआर की टाइमिंग का मेल न होने की वजह से सहमति नहीं बनी। इस पर बोर्ड के अफसरों ने आगामी 15 दिनों में एक रिवाइज टाइम टेबल देने को कहा है। किसी नई ट्रेन पर भले ही कोई सहमति नहीं बन सकी लेकिन सभी को उम्मीद है कि जल्द ही इस पर सहमति बन जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।