DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली निगम के संविदा कर्मी की मौत की जांच अब तक शुरू नहीं हुई

बिजली निगम के संविदा कर्मी की मौत की जांच अब तक शुरू नहीं हुई

बिजली अभियंताओं की लापरवाही से खम्भें पर धू-धू कर जले संविदाकर्मी शशि मोहन शर्मा की मौत मामलें की जांच एक कदम भी आगे नहीं बढ़ी। जांच अधिकारी अधिशासी अभियंता मीटर दो दिन बाद भी किसी का बयान नहीं ले सके। नगरीय अधीक्षण अभियंता ने एक्सईएन इंद्राज यादव से तीन दिनों में जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। सूत्रों का कहना है कि जिम्मेदार लापरवाही करने वाले अभियंताओं को बचाने की कोशिश में जुटे हुए है।

टाउनहाल उपकेंद्र पर तैनात अकुशल श्रमिक शशि मोहन शर्मा की शुक्रवार की रात करेंट लगने से मौत हो गई थी। मामले में परिजनों ने एसडीओ और जेई के खिलाफ कैंट थाने में केस दर्ज करने की तहरीर दी है। साथ ही विभाग ने पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी अधिशासी अभियंता इंद्रराज यादव को सौपी है। शट डाउन लेने और वापस रिलीज करने की जांच करनी है। इसके अलावा एसडीओ, जेई का बयान भी दर्ज होना है। ई. इंद्रराज ने बताया कि जेई, एसडीओ की मौजूदगी में बिना सुरक्षा उपकरण के संविदा कर्मी को कैसे खंभे पर चढ़ाया गया, इसकी जांच भी की जाएगी।

नहीं दर्ज हो सका मुकदमा

संविदा कर्मी की मौत के दो दिन बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया है। परिवार के लोगों ने एसडीओ अभिषेक सिंह और जेई के खिलाफ तहरीर दी थी। कैंट इंस्पेक्टर सीबी सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार है। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No Inquiry in Contract employee death begun in Gorakhpur