DA Image
22 अप्रैल, 2021|2:10|IST

अगली स्टोरी

राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस: पांच छात्रों के प्रोजेक्ट राज्य स्तर के लिए चयनित

28 वीं राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस-2020 की जनपद स्तरीय परियोजना का बुधवार को ऑनलाइन प्रस्तुतीकरण हुआ। इस दौरान जिले से पांच छात्रों का चयन राज्य स्तरीय प्रस्तुति के लिए चयनित किया गया। प्रोजेक्टों का मुख्य विषय सतत जीवन के लिए विज्ञान रहा। 
 इस वर्ष कोविड-19 के कारण जनपद में ऑनलाइन स्तर पर प्रोजेक्ट रजिस्ट्रेशन कराया गया था। जिसमें 15 विद्यालयों के 109 परियोजनाएं रजिस्टर की गई थी। जिसमें सबसे अधिक 93 परियोजना खलीलाबाद तहसील से आई है। धनघटा से 9 और मेंहदावल से 7 परियोजनाएं रजिस्टर की गईं। इन परियोजनाओं में 40 परियोजनाएं छात्राओं द्वारा तथा 69 परियोजना छात्रों द्वारा रजिस्टर की गई थी। जूनियर संवर्ग में 20 परियोजना तथा सीनियर संवर्ग में 89 परियोजना रजिस्टर की गयी। इन 109 परियोजनाओं का प्रारंभिक स्तर पर स्क्रीनिंग करने के पश्चात 28 परियोजनाओं को जनपद स्तर पर ऑनलाइन प्रतिभाग कराया गया था। इन 28 परियोजनाओं का लिखित तथा मौखिक मूल्यांकन निर्णायक मंडल के तीन सम्मानित सदस्यों द्वारा किया गया। निर्णायक मंडल में इसरो के वैज्ञानिक/इंजीनियर-एससी शांतनु श्रीवास्तव, जनपद अकादमिक समन्वयक डॉ. आरके सिंह तथा मैनेजर-बिजनेस डेवलपमेंट स्टेमरोबो टेक्नोलॉजी अखिलेश कुमार सिंह शामिल थे। दो दिन चले इस मूल्यांकन में निर्णायक मंडल को कड़ी मेहनत करनी पड़ी। 
समापन समारोह के मुख्य अतिथि प्रोफेसर डॉक्टर विशाल सिंह चंदेल, हेड अनुप्रयुक्त विज्ञान और मानविकी तथा डायरेक्टर राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज अंबेडकरनगर ने कहा कि छात्रों की परियोजना में सदैव नवीनीकरण होना चाहिए तथा लोकल स्तर पर चुनी गई समस्याओं के निदान का नवीन उपाय सुलझाया जाना चाहिए। विशिष्ट अतिथि रामकुमार सिंह प्रधानाचार्य हीरालाल रामनिवास इंटर कॉलेज ने राज्य स्तर के लिए चयनित बाल वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए राज्य स्तर पर जनपद का नाम रोशन करने का आशीर्वाद दिया। 

इन छात्रों के प्रोजेक्ट राज्य स्तर के लिए चयनित 
जनपद समन्वयक अभिषेक कुमार सिंह ने बताया की सीनियर संवर्ग से 3 परियोजनाएं हीरालाल रामनिवास इंटर कॉलेज के राज कश्यप का सार्वजनिक ई-अस्पताल, मुस्कान कुमारी का आईओटी बेस्ड स्मार्ट इरिगेशन सिस्टम और बाल विद्यालय प्रसादपुर की ब्यूटी उपाध्याय का विलुप्त प्राय पशु पक्षी से परितंत्र पर पड़ने वाले प्रभाव तथा  जूनियर संवर्ग में दो परियोजनाए आरकेआरटी इंटर कॉलेज के प्रांजल त्रिपाठी का अम्फिबिअस व्हीकल तथा सेंट थॉमस इंटर कॉलेज की अन्वेषिका सिंह का स्किल टू इंप्रूव ई स्टडी इन कोरोना पीरियड राज्य स्तर के लिए चयनित की गई है । इन  बाल वैज्ञानिकों  का राज्य स्तरीय ऑनलाइन परियोजना प्रस्तुतीकरण 15 से 17 जनवरी 2021 को होगा। जूम एप पर समापन समारोह का ऑनलाइन संचालन करते हुए जनपद समन्वयक अभिषेक कुमार सिंह ने कहा कि संपूर्ण तकनीकी सहयोग अटल टिंकरिंग लैब के छात्रों राज कश्यप तथा सुशांत यादव द्वारा किया गया है। इस अवसर पर प्रदीप श्रीवास्तव प्रबंधक बाल विद्यालय प्रसादपुर, अंकुर त्रिपाठी प्रधानाचार्य आरकेआरटी इंटर कॉलेज, अजीत कुमार गेस्ट लेक्चरर आईटीआई बालूशासन, बाल वैज्ञानिक दिगपाल यादव, अन्वेषिका सिंह, अविनाश पटेल, अनिरुद्ध उपाध्याय, ब्यूटी उपाध्याय, श्रेया, सचिन यादव, आयुष गुप्ता, प्रांजल त्रिपाठी, सर्वदानंद त्रिपाठी, हिमांशु राव आदर्श त्रिपाठी, मुस्कान कुमारी, दुर्गेश कुमार एवं किशन कपूर इत्यादि उपस्थित रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:National Children Science Congress: Five students selected for state level project