ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुरघोष कंपनी चौक पर बनेगी मल्टी लेवल पार्किंग और शापिंग काम्पलेक्स

घोष कंपनी चौक पर बनेगी मल्टी लेवल पार्किंग और शापिंग काम्पलेक्स

गोरखपुर, मुख्य संवाददाता । नगर निगम की ओर से घोष कंपनी के मेवातीपुर उर्फ

घोष कंपनी चौक पर बनेगी मल्टी लेवल पार्किंग और शापिंग काम्पलेक्स
हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरThu, 22 Feb 2024 11:00 AM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर, मुख्य संवाददाता । नगर निगम की ओर से घोष कंपनी के मेवातीपुर उर्फ चैनपुर में अतिक्रमण मुक्त कराई गई जमीन पर पीपीपी मोड पर मल्टीलेवल पार्किंग एवं कामर्शियल शापिंग कांप्लेक्स का निर्माण होगा। इसके अलावा अतिक्रमण हटाने के दौरान टूटे धार्मिंक स्थल के लिए जगह भी निर्धारित की गई है।
बुधवार को नगर निगम ने 21625.6 वर्गमीटर जमीन पर पीपीपी मोड पर मल्टी लेवल पार्किंग एवं कामर्शियल शापिंग काम्पलेक्स बनाने के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (ईओआई) जारी किया। मुख्य अभियंता संजय चौहान के मुताबिक, इच्छुक फर्मे गुरुवार से ईओआई डाउनलोड कर सकेंगी। 26 फरवरी को प्री विड मीटिंग होगी। 01 मार्च आवेदन की अंतिम तिथि होगी इसी दिन निविदा भी खोली जाएगी। निविदा डालने वाली फर्म को 5 लाख की एफडीआर के साथ 15 साल तक निर्माण, संचालन और रखरखाव का काम भी करना होगा। उसके बाद निर्माण नगर निगम को हस्तांतरित करना होगा। फिलहाल नगर निगम जमीन पर चाहरदीवारी का निर्माण करा रहा है।

यह था मामला

मेवातीपुर उर्फ चैनपुर की 46 डिसमिल 09 कड़ी की यह जगह अंग्रेजों के काल में अस्तबल और सहन खाते में दर्ज थी, उसका इस्तेमाल अंग्रेज अधिकारियों की बग्घी एवं घोड़ों के विश्राम स्थल के रूप में होता था। बाद के दिनों में तमाम लोगों ने फर्जी ढंग से इस जमीन का बैनामा करा लिया और किराया भी वसूल करने लगे। नगर निगम ने 24/25 जनवरी को अभियान चलाकर अतिक्रमण को ध्वस्त कराया और तकरीबन 100 करोड़ से अधिक कीमत की जमीन पर कब्जा ले लिया। ध्वस्तीकरण की चपेट में कांग्रेस का कार्यालय और धार्मिक स्थल भी आया था।

‘‘घोष कंपनी चौराहे पर अतिक्रमण से मुक्त कराई गई कामर्शियल इस्तेमाल की जमीन पर शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मल्टीलेवल पार्किंग पीपीपी मोड पर बनाया जाएगा। इससे लोगों को जाम से निजात मिलेगी। शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के लिए ईओआई जारी किया गया है।

गौरव सिंह सोगरवाल, नगर आयुक्त, नगर निगम गोरखपुर

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें