Most of durga statues visarjit in rivers nagar nigam fails - धरी रह गई नगर निगम की तैयारी, नदी में विसर्जित हुईं प्रतिमाएं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धरी रह गई नगर निगम की तैयारी, नदी में विसर्जित हुईं प्रतिमाएं

मॉ दुर्गा प्रतिमाओं के विजर्सन को लेकर नगर निगम की तैयारी इस बार भी धरी रह गई। हालांकि पूर्व की वर्षों की तुलना में इस बार अधिक प्रतिमाएं नगर निगम के तैयार पोखरों में हुई हैं। प्रशासन के दावे के मुताबिक करीब 40 फीसदी प्रतिमाएं नगर निगम द्वारा तैयार कृतिम पोखरों में हुईं हैं। बड़ी संख्या में प्रतिमाओं को सीधे राप्ती और रोहिन नदी में विसर्जित किया गया। 

राप्ती नदी तट पर तीन पोखरे तैयार कराए गए थे। पुलिस प्रशासन के मुताबिक देर शाम तक विसर्जित हुई 900 प्रतिमाओं में से करीब 400 कृतिम पोखरों में विसर्जित हुई हैं। शेष प्रतिमाएं कालेसर-जगदीशपुर फोरलेन पर बाघागाड़ा पुल से सीधे नदी में की गई हैं। वहीं डोमिनगढ़ में तैयार कृतिम पोखरे में प्रतिमाओं के विजर्सन कराने में प्रशासन को सफलता मिली। डोमिनगढ़ संवाद के मुताबिक डोमिनगढ़ पोखरे में 110 प्रतिमाएं रात आठ बजे तक विजर्सित की गईं। वहीं रोहिन नदी में भी करीब 40 प्रतिमाएं विसर्जित हुई हैं। चिलुआताल के पास बने पोखरे में भी 30 से 35 फीसदी ही प्रतिमाएं विजर्सित हुईं। नगर निगम ने शहर में स्थापित करीब 1500 मां दुर्गा की मूर्तियों के विसर्जन के लिए पांच कृत्रिम पोखरे बनकर तैयार किया था। तीन पोखरे राप्ती तट तो एक-एक रोहिन नदी और चिलुआताल में बनाए गए हैं। 

बड़ी प्रतिमाएं सीधे नदी में विजर्सित हुईं
सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी के निर्देशों के क्रम में नगर निगम प्रशासन ने सीधे नदी में मूर्तियों का विसर्जन रोकने के लिए राजघाट और डोमिनगढ़ में कृत्रिम पोखरे बनवाए हैं। राप्तीतट पर बनाए गए पोखरे का आकार क्रमश: 70 मीटर लंबा और 50 मीटर चौड़ा, 50 मीटर लंबा और 40 मीटर चौड़ा तथा 45 मीटर लंबा और 35 मीटर चौड़ा है। नौसढ़ संवाद के अनुसार पोखरे में सिर्फ छोटी प्रतिमाएं ही विसर्जित हुईं। पुलिस प्रशासन के दबाव में कुछ बड़ी प्रतिमाओं को विसर्जित करने का प्रयास हुआ लेकिन गाड़ियों के पोखरे तक पहुंचने में हुई दिक्कतों के बाद बाघागाड़ा जाने की मौन सहमति दे दी गई। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Most of durga statues visarjit in rivers nagar nigam fails