DA Image
1 अक्तूबर, 2020|6:35|IST

अगली स्टोरी

गोरखपुर में कोरोना के सर्वाधिक मरीज बुजुर्ग, आफत बनी महामारी 

corona test positive of 30 people in kanpur private gyan pathology when they were tested in governme

कोरोना महामारी बुजुर्गों के लिए आफत बन गई है। इस जानलेवा वायरस का शिकार सबसे ज्यादा बुजुर्ग हुए हैं। 15 हजार संक्रमितों में करीब 4,600 बुजुर्ग शामिल रहे हैं जबकि 118 संक्रमित बुजुर्गों की जान जा चुकी है।

कोरोना महामारी का सबसे अधिक असर अब तक बुजुर्गों पर देखने को मिला है। जिन बुजुर्गों को पहले से शुगर या बीपी की समस्या थी। उनके लिए यह महामारी जानलेवा साबित हुई है। अब तक के मिले आंकड़े इस बात की तस्दीक भी कर रहे हैं। अब तक संक्रमण से मरने वाले 248 लोगों में 118 बुजुर्ग शामिल रहे हैं।
फिजीशियन डॉ. आशुतोष शुक्ला ने बताया कि कोरोना ने बहुत कुछ बदल दिया है। बुजुर्गों की सेहत को लेकर अब ज्यादा सचेत रहने की जरूरत है। क्योंकि अगर एक बार वायरस का असर बुजुर्गों पर हुआ तो उनकी सेहत के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। जिन बुजुर्गों को पहले से शुगर, बीपी, किडनी की बीमारी थी, ऐसे बुजुर्गों की मौत संक्रमण की वजह से हुई है। इसलिए अब बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है।

विशेष देखभाल की जरूरत
होम्योपैथी चिकित्सक डॉ रूप कुमार बनर्जी ने बताया कि कोरोना के दौरान बुजुर्गों की देखभाल के लिए विशेष कदम उठाएं जाने की जरूरत है। घर में रहें, आगंतुकों से मिलने से बचें। घर पर पके हुए ताजे गर्म भोजन के माध्यम से उचित पोषण सुनिश्चित करें। स्वास्थ्य की निगरानी करें। यदि बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो तो तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर डॉक्टर से सलाह लें। रूटीन चेकअप कराते रहें। याद्दाश्त संबंधी समस्याओं वाले बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखें।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:most of corona patients are of old age