DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेहनतकश मजदूरों की सरकार ने की कद्र, दस रुपए में मिलेगा दोपहर का खाना

भवन निर्माण में लगे श्रमिकों को अब कार्यस्थल पर दोपहर का भोजन घर से ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पंजीकृत श्रमिकों को मध्यान भोजन (मिड-डे मील) इस महीने के अखिर तक मिलने लगेगा। वह भी 10 रुपये में। प्रमुख सचिव श्रम के निर्देश पर श्रम विभाग एजेंसी तैनात करने में जुटा है। एजेंसी द्वारा मध्यान भोजन उस कान्ट्रक्शन साइट पहुंचाया जाएगा, जहां 60 या उससे अधिक मजदूर काम करते हों। श्रम विभाग के मुताबिक जिले के विभिन्न ब्लाकों के करीब 1.25 लाख श्रमिक पंजीकृत हैं। उत्तर प्रदेश भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड ने पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को मिड डे मील योजना के तहत माध्यान भोजन मुहैया कराने को कहा है। स्थानीय स्तर पर इसके लिए एजेंसी तैनात करने की प्रक्रिया चल रही है। ताकि श्रमिकों को योजना का लाभ जल्द से जल्द दिया जा सके। अब श्रमिकों को दोपहर का खाना बनाने में समय नहीं बर्बाद करना पड़ेगा। या घर से भोजन लाने की आवश्यकता नहीं होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mid day meal for labours in Rs10