DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूरजकुंड में सिंधी समाज के आराध्य देव झूलेलाल की हुई महाआरती

सूरजकुंड में सिंधी समाज के आराध्य देव झूलेलाल की हुई महाआरती

सिंधी समाज के प्रमुख चालीहा पर्व पर शहर के अलग-अलग सिंधी कॉलोनियों में गुरुवार को विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दौरान जटाशंकर स्थित कल्याण पैलेस, बैंक रोड स्थित लाल जी क्वार्टर, बक्शीपुर, हजारीपुर, सूरजकुंड, कैलाशनगर, विकासनगर व गोरखनाथ स्थित झूलेलाल मन्दिर में कलश में भव्य आरती की गई।

सूरजकुंड स्थित सिंधु सेवा ट्रस्ट के सिंधु भवन में गुरुवार को बतौर मुख्य अतिथि गोरखपुर ग्रामीण विधायक विपिन सिंह ने श्री झूलेलाल की पूजा व आरती की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सिंधी समाज द्वारा आयोजित नवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। चालीस दिनों तक कठिन व्रत रखरकर पूजा आरती करना समाज में निष्ठा के भाव को दर्शाता है। युवा सिंधी समाज के अध्यक्ष कमल मंझानी व महामंत्री देवा केशवानी ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए चालीहा पर्व व झूलेलाल पर्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर राकेश जमनानी, देवा कारवानी, अशोक जुमनानी, राजकुमार बलानी, माधवदास, कन्हैया वरयानी, कविता निभानी, बिंदु संतानी, मेनका, दिव्या, रीमा, राशि आदि मौजूद रहे।

बैंक रोड स्थित लालजी क्वार्टर में गुरुवार को महिलाओं द्वारा डांडिया नृत्य का आयोजन किया गया। सिंधी समाज की महिलाओं ने डांडिया नृत्य करते हुए जमकर मस्ती की। कार्यक्रम में उपस्थित महिलाएं गीत की धुन पर थिरकने को मजबूर हो गई। इसके बाद हाउजी गेम का आयोजन किया। हाउजी गेम में लकी ड्रा निकालकर तीन महिलाओं को चुना गया। स्थान प्राप्त करने वाली महिलाओं को पुरस्कृत किया गया। इसके बाद महाआरती हुई। प्रसाद वितरण के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

सिंधी समाज द्वारा निकाली जाने वाली शोभायात्रा की तैयारी पूरी हो गई है। शोभायात्रा में विभिन्न झांकियां निकाली जाएंगी। स्थान प्राप्त करने वाली झांकियों को पुरस्कृत किया जायेगा। झूलेलाल महोत्सव के मीडिया प्रमुख जीवत सिंह माधवानी व समिति के अध्यक्ष अर्जुन बलानी ने बताया कि महोत्सव के अन्तिम दिन शोभायात्रा यात्रा निकाली जायेगी।

श्रद्धालुओं ने कहा

नवरात्र के दौरान कई स्थानों पर झूलेलाल प्रतिमा की स्थापना होती है। प्रतिमा स्थपना के बाद श्रद्धालु पूजा-पाठ में जुट जाते हैं। परिवार साथ बैठकर भगवान झूलेलाल की पूजा करता है।

- गरिमा बजाज, हुमांयुपुर

झूलेलाल शोभायात्रा में शामिल झांकियां लोगों के आकर्षण की केंद्र होती हैं। इसमें समाज के सभी लोग सहयोग देते हैं। महोत्सव के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी प्रतिभाग करते हैं।

- इंदिरा छाबड़ा, विकासनगर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Maharati performed in Surajkund by the adorable Dev Jhulelal of Sindhi community