DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

...जब बाघ और तेंदुए में हो गई भिड़ंत, जानिए कौन जीता किसकी गई जान

उत्तर प्रदेश सीमा से सटे वाल्मीकि ब्याघ्र परियोजना के कक्ष संख्या 34 व 37 के बीच दरूआबारी के जंगल में मांस खाने को लेकर बाघ व तेंदुए में भिड़ंत हो गई। दोनों की भिड़ंत में तेंदुए की जान चली गई। इसकी जानकारी तब हुई जब वनकर्मी जंगल में गश्त पर पहुंचे।

वाल्मीकि ब्याघ्र परियोजना के सहायक वन संरक्षक आरके सिन्हा ने बताया कि उन्हें सूचना मिली कि दरुआबारी के जंगल में एक तेंदुआ मरा पड़ा है। इसकी सूचना मिलते सहायक वन संरक्षक ने वन कर्मियों को मौके पर भेजा। मौके पर वनकर्मियों को एक मरे हुए हिरण का मांस मिला। इससे अनुमान लगाया गया कि बाघ ने हिरण का शिकार किया होगा।

जहां बाघ के शिकार पर तेंदुआ के द्वारा हाथ साफ करने की कोशिश की गई होगी। इसी को लेकर दोनों में टकराव की स्थिति पैदा हुई होगी और बाघ के हमले में तेंदुए की जान चली गई। फिलहाल तेंदुए के मांस व खाल के नमूने को देहरादून फॉरेंसिक लैब भेजने की तैयारी वन विभाग द्धारा की जा रही है। वहीं तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। सहायक वन संरक्षक का कहना है कि फॉरेंसिक लैब देहरादून से इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही तेंदुए की मौत के कारण का स्पष्ट पता चल सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lion-Tiger fight in Kushinagar Tiger died