DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अभिभावक को छोड़िए शिक्षकों में भी है शोहदों का खौफ

अभिभावक को छोड़िए शिक्षकों में भी है शोहदों का खौफ

छेड़खानी की बढ़ती घटनाओं से अभिभावक ही परेशान नहीं हैं शिक्षकों में भी चिंता दिखी। चिंता ऐसी कि वह शोहदों की खौफ से पुलिस में शिकायत भी नहीं कर सकते हैं। ‘हिन्दुस्तान की हेल्पलाइन पर अब तक कई शिक्षकों ने अपनी पीड़ा बताई। उनका कहना था कि उन्हें रोजाना स्कूल आना जाना होता है और शोहदे इसका फायदा उठाकर उनके साथ अनहोनी कर सकते हैं।

मंगलवार को हेल्पलाइन पर फोन कर गोला के एक शिक्षक ने पीड़ा बताई। उन्होंने कहा कि स्कूलों की छुट्टी के बाद सबसे ज्यादा दिक्कत होती है। वह बच्चियों के साथ बाइक सवार शोहदों द्वारा छेड़खानी करते हुए देखते हैं पर उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर सकते हैं। नंदानगर के एक शिक्षक ने इससे पहले ही शिकायत की थी। उन्होंने बताया कि किस तरह बाइकर्स व छात्रों का झुण्ड स्कूल के बाहर खड़ा होकर छेड़खानी करता है। वहीं मंगलवार को भी ज्यादातार अभिभावकों ने वे स्थान बताए जहां खड़े होकर शोहदे बेटियों-बहनों को परेशान करते हैं। सब ने अपने तरीके से अपना दर्द साझा किया, हेल्प मांगी और बात कहने के लिए मंच देने पर शुक्रिया कहा। वहीं कुछ ने हिम्मत जुटाई मिस्डकॉल किया पर अपनी बात नहीं रख पाए।

एडी मॉल के पास से पुलिस ने पकड़े तीन शोहदे

गोरखपुर। कोतवाली क्षेत्र में शोहदों की सड़क पर मौजूदगी पर सक्रिय हुई एंटी रोमियो टीम ने एडी मॉल के पास से तीन शोहदों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। तीनों हुमायूंपुर के रहने वाले हैं।

एंटी रोमियो प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप सिंह ने बताया कि सोमवार की शाम को टीम ने एडी मॉल के सामने से तीन युवकों को गिरफ्तार किया। यह महिलाओं और लड़कियों के साथ छेड़खानी कर रहे थे। पूछताछ में इनकी पहचान हनीफ पुत्र उस्मान गनी, सरफराज पुत्र मसूदुल हसन और ताहा पुत्र शमीम के रूप में हुई। तीनों हुमायूंपुर उत्तरी गोरखनाथ के रहने वाले हैं। इनके खिलाफ छेड़खानी की धारा में केस दर्ज कर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से तीनों को जेल भेज दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Leave the guardian teachers are also afraid of laments