DA Image
3 दिसंबर, 2020|7:01|IST

अगली स्टोरी

करवा चौथ 4 को, महिलाओं के लिए सजीं दुकानें

करवा चौथ 4 को, महिलाओं के लिए सजीं दुकानें

करवा चौथ इस बार 4 नवम्बर को है। करवा चौथ का व्रत कार्तिक कृष्ण पक्ष को चन्द्रोदय व्यापिनी चतुर्थी में किया जाता है। सौभाग्यवती महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए यह व्रत करती हैं।

करवा चौथ पर व्रती महिलाएं रात्रि में शिव, गौरी, गणेश, कार्तिकेय, चन्द्रमा व नवग्रहों की पूजा करती हैं। करवा माता से पति की दीर्घायु की कामना करती हैं। इस व्रत की महिमा कृष्ण ने द्रौपदी को बताते हुए करवा चौथ का व्रत रखने को कहा था। द्रौपदी ने इस व्रत को नियम और श्रद्धा से रखा, जिससे पाण्डव विजयी हुए।

चन्द्रमा को अर्घ्य देकर निर्जला व्रत तोड़ेंगी महिलाएं

करवा चौथ पर महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं। पं. त्रियुगी नारायण शास्त्री ने बताया कि उगते हुए चन्द्रमा को ही अर्घ्य देना चाहिए। वाराणसी के मानक के अनुसार शाम 7:57 बजे चन्द्रोदय होगा। गोरखपुर में उसके चार मिनट बाद 8: 01 बजे चन्द्रमा उदय का योग है। चन्द्रमा को अर्घ्य देने के बाद महिलाएं पति की आरती करेंगी। उसके बाद पति अपने हाथों से पानी पिलाकर व्रत तोड़ेंगे।

सोलहों श्रृंगार के लिए सजी दुकानें

करवा चौथ व्रत पर महिलाएं सोलहों श्रृंगार करती हैं। इसे देखते हुए कपड़ों, श्रृंगार व ज्वैलरी की दुकानें इससे सम्बंधित सामानों से सज चुकी हैं। करवा चौथ व्रत के मद्देनजर दुकानों पर महिलाएं पहुंचकर खरीदारी करने लगी हैं। गोलघर, हिन्दी बाजार, घंटाघर आदि बाजारों में खरीदारी के लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ने लगी है।

इस बार घर पर ही मेहंदी लगवाएंगी महिलाएं

करवा चौथ पर हाथों में मेहंदी सजाने की परंपरा है। प्राय: एक दिन पहले या करवा चौथ के दिन ही महिलाएं हाथों में मेहंदी सजाती हैं। गोलघर समेत कई जगहों पर मेहंदी लगवाने के लिए महिलाओं की कतार लगी रहती थी। लेकिन इस बार कोरोना इफेक्ट के कारण महिलाओं की भीड़ उमड़ने की उम्मीद बेहद कम दिख रही है। ज्यादातर महिलाएं घरों में ही मेहंदी लगवाने की योजना पर काम कर रही हैं। मोहनापुर निवासी रेनू उपाध्याय और असुरन निवासी सीमा सिंह ने बताया कि वे मेहंदी लगवाने हर बार करवाचौथ पर गोलघर जाती थीं। इस बार घर पर ही मेहंदी लगवाएंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Karva Chauth 4 shops adorned for women