DA Image
2 अप्रैल, 2020|1:12|IST

अगली स्टोरी

महज तीन दिन में टीम तैयार कर सरकार को भेज दी रिपोर्ट

महज तीन दिन में टीम तैयार कर सरकार को भेज दी रिपोर्ट

गोरखपुर जिला अस्पताल के एसआईसी डॉ. एके सिंह का कहना है किसूबे में जब कोरोना संक्रमण की आहट हुई। तब शासन ने सबसे पहले जिला अस्पताल पर भरोसा जताया। एक नई बीमारी, उससे लड़ाई। तैयारियों में कोई कसर नहीं रखना चाहता था। इसके लिए बीते एक महीने से कवायद चल रही है। सबसे पहले टीम को तैयार किया। इसके लिए डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टॉफ से अलग-अलग संवाद किया। कुछ डॉक्टरों ने आगे बढ़कर बढ़ने का साहस दिखाया। उन्हें देखकर दूसरे भी आगे आए। महज तीन दिन में टीम तैयार कर सरकार को रिपोर्ट भेज दी। इसके बाद संसाधनों को जुटाने की कवायद हुई। जिला प्रशासन व सीएमओ की मदद से आइसोलेशन व क्वारंटीन वार्ड तैयार किया गया। सबसे पहले छह बेड का वार्ड बना था जिसे बढ़ाकर 30 बेड कर दिया गया है। जिले में यह पहला आइसोलेशन सेंटर बना जिसमे वेंटीलेटर की सुविधा भी है।

मिली हैं सुविधाएं

कोरोना से जंग में शासन से हर संभव मदद मिल रही है। हालांकि अभी कुछ चीजों की दरकार है। इसके बावजूद हम तैयार हैं। पांच डॉक्टरों के साथ 30 पैरामेडिकल स्टॉफ की टीम को तैयार किया गया है। टीम ट्रेंड हो चुकी है। हौसले बुलंद है। टीम को आवश्यक सभी संसाधन मुहैया करा दिए गए। उनके साथ खुद भी फ्लू की ओपीडी में मरीजों की जांच व इलाज करता हूं। आइसोलेशन वार्ड व क्वारंटीन वार्ड का रोजाना निरीक्षण कर रहा हूं।

यह रहीं चुनौतियां

कोरोना का भय विश्व में है। अस्पताल के कर्मचारी भी इसी समाज का हिस्सा है। वह भी कोरोना का नाम सुनने के बाद डर गए। इनका मनोबल बढ़ाना जरूरी था। सभी की काउंसलिंग की गई। इसका असर दिखा। आज हर कर्मचारी आगे बढ़कर इस जिम्मेदारी को निभा रहा है। कुछ कर्मचारी पर्दे के पीछे काम कर रहे हैं। इनकी बदौलत ही जिला अस्पताल में सबसे पहले आइसोलेशन व क्वारंटीन वार्ड तैयार कर लिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In just three days the team was prepared and sent the report to the government