DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआईटी कानपुर से एमएमएमयूटी अब मिल कर करेंगे शोध


आईआईटी कानपुर से एमएमएमयूटी अब मिल कर करेंगे शोध

मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय ने अकादमिक सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के साथ समझौता किया है। समझौता करार पत्र पर दोनों संस्था प्रमुखों ने शनिवार को हस्ताक्षर कर दिए। कानपुर में हुए एमओयू पर एमएमएमयूटी की तरफ से कुलपति प्रो. श्रीनिवास सिंह ने जबकि आईआईटी कानपुर की तरफ से निदेशक प्रो. अभय करंदीकर ने हस्ताक्षर किये।

दोनों संस्थाओं के बीच अकादमिक व शैक्षणिक सहयोग बढ़ाने को लेकर हुआ एमओयू

आईआईटी कानपुर में अब इंटर्नशिप भी कर सकेंगे एमएमएमयूटी के विद्यार्थी

इस समझौते का उद्देश्य दोनों संस्थानों के मध्य संयुक्त शैक्षणिक कार्यक्रमों का विकास करना, स्किल इंडिया और डिजिटल इंडिया कार्यक्रमों में सहयोग करना, शिक्षकों और छात्रों का परस्पर आदान प्रदान, संयुक्त शोध परियोजनाएं चलाना, एवं संयुक्त रूप से अन्य अकादमिक सम्मेलन, संगोष्ठी, तकनीकी कार्यशालाएं आदि आयोजित करना है। इस समझौते के अंतर्गत आईआईटी कानपुर के शिक्षक विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से एमएमएमयूटी के शिक्षकों की गुणवत्ता बढ़ाने में सहयोग करेंगे। आईआईटी कानपुर के शिक्षक एमएमएमयूटी में विशेष विषयों पर व्याख्यान के लिए भी आमंत्रित किये जाएंगे।

एमएमएमयूटी के शिक्षक और शोध छात्रों को आईआईटी कानपुर की अकादमिक सुविधाओं जैसे कि पुस्तकालय, प्रयोगशालाएं, ई-सुविधाओं का प्रयोग कर सकने की छूट होगी। एमएमएमयूटी के छात्र आईआईटी कानपुर में इंटर्नशिप करने भी जा सकेंगे। समझौते के अनुसार आईआईटी और एमएमएमयूटी के शिक्षक संयुक्त रूप से परास्नातक स्तर के छात्रों के शोध परियोजनाओं का निर्देशन कर सकेंगे। समझौते में यह भी प्राविधान है कि दोनों संस्थान समझौते में लिखित गतिविधियों के अतिरिक्त आपसी रूचि की अन्य शैक्षणिक गतिविधियों में भी परस्पर सहयोग कर सकेंगे।

पिछले दो वर्षों में एमएमएमयूटी ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद नई दिल्ली द्वारा संचालित ‘तकनीकी शिक्षा गुणवत्ता सुधार कार्यक्रम के अंतर्गत प्राप्त सुझावों एवं मंशा के अनुरूप विभिन्न राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों, विश्वविद्यालयों से अकादमिक सहयोग के लिए पारस्परिक समझौते किये हैं। आईआईटी, कानपुर से किया गया समझौता विभिन्न राष्ट्रीय, अन्तराष्ट्रीय संस्थानों से पारस्परिक सहयोग बढ़ाने की दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम है। इससे न केवल एमएमएमयूटी के शैक्षणिक कार्यक्रमों की गुणवत्ता बढेगी बल्कि छात्रों और शोधकर्ताओं को और बेहतर अवसर उपलब्ध होंगे।

कई महत्वपूर्ण संस्थानों से हुआ है एमएमएमयूटी का एमओयू

एमएमएमयूटी ने हाल के वर्षों में राइक्यूस विश्वविद्यालय जापान, कार्लोस विश्वविद्यालय स्पेन, वॉरसॉ विश्वविद्यालय पोलैंड, विस्कांसिन विश्वविद्यालय अमेरिका, नार्थ डकोटा राज्य विश्वविद्यालय अमेरिका, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद उत्तर प्रदेश सरकार, बायोएक्सिस डीएनए रिसर्च सेंटर हैदराबाद, एनआईटी सूरत, एमएनएनआईटी प्रयागराज, आईआईआईटी प्रयागराज, राष्ट्रीय पर्यावरण अभियांत्रिकी शोध संस्थान नागपुर एवं टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज आदि से शिक्षण, शोध एवं प्रशिक्षण हेतु समझौता किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:IIT Kanpur and MMMUT will do joint research now