DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेट जेआरएफ हैं तो बिना परीक्षा मिलेगा पीएचडी में प्रवेश

नेट जेआरएफ हैं तो बिना परीक्षा मिलेगा पीएचडी में प्रवेश

एमएमएमयूटी में पीएचडी में प्रवेश के लिए अब नेट, जेआरएफ, यूजीसी या सीएसआईआर उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को जुलाई में होने वाली प्रवेश परीक्षा का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अब वह इससे पहले भी बिना प्रवेश परीक्षा के प्रवेश पा सकेंगे। यह निर्णय एमएमएमयूटी की विद्या परिषद ने बुधवार को कुलपति प्रो. एसएन सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया। प्रबंध बोर्ड की मंजूरी के बाद इसे लागू कर दिया जाएगा।

इसके अलावा विद्या परिषद ने कैंपस में लागू मॉडरेशन नियमों में भी बदलाव कर दिया है। पहले जहां शिक्षकों द्वारा प्रश्न पत्र तैयार करने के बाद उसे विभागाध्यक्ष द्वारा रेंडम आधार पर नामित शिक्षकों की कमेटी चेक करती थी मगर प्रश्नों में बदलाव नहीं करती थी। अब यह कमेटी अब कुलपति द्वारा नामित होगी। विभागाध्यक्ष इसके संयोजक होंगे और कुलपति इस कमेटी में अलग से विषय विशेषज्ञों को नामित करेंगे। यह कमेटी चाहे तो प्रश्नों को बदल भी सकेगी।

एमएमएमयूटी के यूआरओ दयाशंकर सिंह ने बताया कि एमएमएमयूटी में अगले सत्र से बीबीए पाठ्यक्रम लागू किए जाने, बीटेक प्रवेश परीक्षा में अगले सत्र से गणित के 50 की जगह 60 सवाल पूछने व रसायन के 50 की जगह 40 सवाल पूछने को भी मंजूरी प्रदान की गई। भौतिकी के पहले की ही तरह 50 साल शामिल रहेंगे। यह भी निर्णय लिया गया कि बीटेक अंतिम वर्ष में पंजीयन के पूर्व एनएसएस, एनसीसी या एनएसओ आदि में कोई एक क्रिया कलाप पूर्ण करना होगा। पहले यह अध्ययन के प्रथम दो वर्षों में पूरी करनी होती थी।

कक्षाओं की समय सरिणी बदली

विद्या परिषद ने इसी सत्र से कक्षाओं की समय सारिणी व विवि के कार्यालय खुलने व बंद किए जाने के समय में बदलाव को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत कैंपस के कार्यालय अब सुबह 9.15 बजे खुलेंगे। शाम को 5.15 बजे बंद होंगे। बीच में एक घंटे का भोजनावकाश होगा। द्वितीय शनिवार को छोड़ कर शेष शनिवार को सुबह 9.15 बजे विवि खुलेगा और 1.30 बजे बंद होगा।

ट्रांसक्रिप्ट शुल्क एक हजार रुपये तय

शैक्षणिक क्रियाकलाप समिति द्वारा संस्तुत प्रस्ताव जिसमें विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए ट्रान्सक्रिप्ट शुल्क एक हजार रुपये निर्धारित किये जाने को मंजूरी दी गई। ट्रान्सक्रिप्ट की आवश्यकता छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए विदेश में जाने पर पड़ती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If you are NET JRF apply directly for PHD in MMMUT Gorakhpur