ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुरघरेलू उपभोक्ताओं की कम बन रही रीडिंग तो होगी जांच

घरेलू उपभोक्ताओं की कम बन रही रीडिंग तो होगी जांच

गोरखपुर। वरिष्ठ संवाददाता बिजली की कम खपत करने वाले दो हजार घरेलू उपभोक्ता...

घरेलू उपभोक्ताओं की कम बन रही रीडिंग तो होगी जांच
default image
हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरSun, 23 Jun 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर। वरिष्ठ संवाददाता
बिजली की कम खपत करने वाले दो हजार घरेलू उपभोक्ता एक बार फिर विभाग के रडार पर आ गए हैं। इन घरेलू उपभोक्ताओं के परिसर में हर महीने कम रीडिंग का बिल बन रहा है। उपभोक्ताओं के परिसर में मीटर की जांच की जा रही है। मीटर में ज्यादा मांग और बिल कम बनने की पुष्टि के आधार पर विजिलेंस को भेजा जा रहा है।

विभाग का मानना है कि यदि दो किलोवाट का कनेक्शन है तो प्रति माह कम से कम 120 यूनिट का बिल बनेगा। इससे कम बिल तभी बन सकता है जब उपभोक्ता घर में न हों या फिर बहुत ही कम उपकरणों का इस्तेमाल कर रहा हो। महानगर में दो हजार से ज्यादा उपभोक्ताओं के परिसर में कनेक्शन की क्षमता ज्यादा होने के बाद भी कम बिजली का उपभोग हो रहा है। शहरी क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता लोकेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि दो से चार किलोवाट क्षमता के कनेक्शनों पर बिजली का उपभोग सामान्य से कम मिलने पर जांच करायी जा रही है। मीटर खंड के माध्यम से जांच के बाद मिल रही रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।