DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › गोरखपुर › हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम : समागम से लिखेंगे पूर्वांचल के विकास की इबारत
गोरखपुर

हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम : समागम से लिखेंगे पूर्वांचल के विकास की इबारत

हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरPublished By: Newswrap
Wed, 04 Aug 2021 04:11 AM
हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम : समागम से लिखेंगे पूर्वांचल के विकास की इबारत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में होने वाले ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम के लिए शहर तैयार है। इसको लेकर शहर के संभ्रांत नागरिकों के बीच चर्चाएं हो रही हैं। लोग उत्साहित हैं। यह कहने लगे हैं कि पूर्वांचल के पिछड़े होने का ठप्पा पूरी तरह से हटेगा। पूर्वांचल अब और आगे बढ़ेगा और देश के अन्य विकसित अंचलों की तुलना में नम्बर वन बनेगा। उत्तर प्रदेश सरकार की नीतियां और कार्ययोजनाएं पूर्वांचल के विकास में अहम भूमिका निभा रही हैं। हिन्दुस्तान द्वारा आयोजित ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम न केवल पूर्वी उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे प्रदेश के विकास में मिल का पत्थर साबित होगा।

योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में 4 अगस्त को सुबह 10:30 बजे से हिन्दुस्तान द्वारा ‘आयोजित ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम को लेकर संभ्रांत शहरियों का कहना है कि बीते चार साल के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में विकास की गति तेज हुई है। चिकित्सा के क्षेत्र में यह अंचल काफी विकसित हुआ है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में सुविधाएं बढ़ी हैं। गोरखपुर में एम्स के निर्माण से चिकित्सा व्यवस्था और मजबूत हुई है। शिक्षा के क्षेत्र में भी खूब काम हो रहा है। लोगों का कहना है कि स्कूल-कॉलेज तेजी से खुल रहे हैं। आईटीआई कॉलेजों और महिला पॉलीटेक्निक की स्थापना से मजबूती आई है। आयुष विवि की स्थापना से इस अंचल को काफी सुविधा मिलेगी। पूर्वी उत्तर प्रदेश में फोरलेन का निर्माण हो रहा है। गोरखपुर में लिंक एक्सप्रेस-वे का निर्माण और उसके दोनों तरफ आर्थिक गलियारा बनाए जाने की संभावनाओं ने इस अंचल के तीव्र विकास की उम्मीद बढ़ा दी है। ‘हिन्दुस्तान का आयोजन इसमें चार-चांद लगाएगा।

लोगों का कहना है कि खाद कारखाना का निर्माण और पिपराइच तथा मुंडेरवा चीनी मिलों के चालू हो जाने से किसानों के चेहरों पर मुस्कान आ गई है। गोरखपुर अंचल में लगातार हो रहे निवेश से युवाओं के पलायन में कमी आई है। युवाओं के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर उपलब्ध हो रहे हैं। कुशल कारीगरों को यहां काम मिलने लगा है। शासन से सुविधाएं और बैंकों से आसानी से कर्ज मिल जाने की वजह से युवाओं द्वारा स्वरोजगार भी खूब शुरू किए जा रहे हैं। पूर्वांचल का चहुंओर विकास हो रहा है। ऐसे में ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम को लेकर लोगों की राय है कि इस समागम से और राहें निकलेंगी जिन पर चलकर विकास के पंख को और ताकत मिलेगी।

क्या कहा इन लोगों ने

अभी तक अखबारों और न्यूज चैनलों का समागम दिल्ली या लखनऊ में होता था लेकिन हिन्दुस्तान की तरफ से पूर्वांचल के केंद्र गोरखपुर में इसका आयोजन हो रहा है। तैयारी बता रही है कि पूर्वांचल में गोरखपुर का महत्व किस तेजी से बढ़ रहा है।

सीताराम जायसवाल, महापौर, गोरखपुर

हिन्दुस्तान द्वारा ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम का आयोजन इस पिछड़े इलाके में औद्योगिक विकास को गति देने में काफी सहायक होगा। मुख्यमंत्री यहां के दर्द के मर्म को अच्छी तरह समझते हैं। उनके प्रयास से कई बड़ी योजनाएं चल रही हैं। इस समागम से तरक्की की नई राह खुलेगी।

विष्णु अजीत सरिया, अध्यक्ष, चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज

पूर्वी उत्तर प्रदेश में चिकित्सा के क्षेत्र में काफी काम हो रहा है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में सुविधाएं बढ़ी हैं। अन्य जिलों में भी मेडिकल कॉलेजों का निर्माण हो रहा है। विकास की और राहें तलाशने के लिए ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम हो रहा है। इस दौरान मंथन में कई रास्ते ऐसे बनेंगे जो पूर्वांचल के विकास में अहम भूमिका निभाएंगे।

डॉ. डीके राय, सर्जन, गोरखपुर

‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम को लेकर शहर में लगाए गए होर्डिंग्स लोगों को आकर्षित कर रहे हैं। यह बयां कर रहे हैं कि पूर्वांचल के विकास को लेकर इस कार्यक्रम में मंथन होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लोग सवाल कर सकेंगे और जिनका वह जवाब देंगे। यह आयोजन पूर्वांचल के विकास में काफी मुफीद साबित होगा।

दीपनारायण पांडेय, प्रधानाचार्य, कुसमौल इंटरमीडिएट कॉलेज

योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में ‘हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम का आयोजन काफी सराहनीय है। निश्चित तौर पर इस आयोजन से विकास के और रास्ते खुलेंगे। यहां जो मंथन होगा उसमें कई ऐसी बातें सामने आएंगी जिस पर अमल कर सरकार और बेहतर कर सकेगी। इससे हमारा पूर्वांचल और अधिक समृद्ध होगा।

राकेश त्रिपाठी, पूर्व मुख्य परिचालन प्रबंधक, एनई रेलवे

संबंधित खबरें