DA Image
11 नवंबर, 2020|11:48|IST

अगली स्टोरी

हिन्‍दी दिवस: इन होनहारों ने हिन्‍दी में विज्ञान और गणित से ज्‍यादा नंबर पाए 

अमूमन कम नम्बर दिलाने वाले हिन्दी विषय में छात्रों ने हाल के वर्षों में अच्छी पकड़ बनाई है। कई होनहार तो ऐसे हैं जिन्होंने हिन्दी जैसे विषय में गणित और विज्ञान विषय से भी अधिक अंक हासिल किया है। गणित-विज्ञान में 70 तो हिन्दी में 75 अंक हासिल कर अपनी हिन्दी पर अच्छी पकड़ साबित की है। 

हाल ही में जारी यूपी बोर्ड परीक्षा के परिणाम में जो आंकड़े सामने आए हैं उनमें 10 वीं और 12 वीं के 80 फीसदी छात्रों ने हिन्दी में बाजी मारी है। इसमे 30 फीसदी छात्र तो ऐसे हैं जिन्होंने डिस्टिंक्शन यानी 75 से ऊपर अंक हासिल किया है। वहीं आठ फीसदी छात्र तो ऐसे हैं तो जिन्होंने गणित व विज्ञान से भी अंधिक अंक हासिल किया है।
 
अंग्रेजी में कमजोर पर हिन्दी में दिखाई दमदारी
यूपी बोर्ड परीक्षा देने वाले गोरखपुर के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के छात्र अंग्रेजी में कमजोर रहे लेकिन हिन्दी में पूरी दमदारी दिखाई। कामर्स, गणित और होम साइंस से भी अधिक संख्या में छात्र हिन्दी में पास हुए हैं। यूपी बोर्ड हाईस्कूल में 2019-2020 में पंजीकृत कुल 418221 छात्रों ने परीक्षा दी थी इसमें 344343 ने हिन्दी विषय में परीक्षा पास की। इसमें 30 फीसदी छात्र ऐसे हैं जिन्होंने 75 या उससे अधिक अंक हासिल किया है।
 
इंटरमीडिएट में 70.82 फीसदी छात्रों ने हिन्दी में पास की परीक्षा
यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट में 2019-2020 में पंजीकृत कुल 123408 छात्रों ने परीक्षा दी थी इसमें 87394 ने हिन्दी विषय में परीक्षा पास की। इसमें 25 फीसदी छात्र ऐसे हैं जिन्होंने 75 या उससे अधिक अंक हासिल किया है। एक तरफ जहां ज्यादातर छात्रों ने हिन्दी में दमखम दिखाया है वहीं दूसरी तरफ एक पहलू यह भी है कि इंटर में 36 हजार तो हाईस्कूल में 73 हजार छात्र हिन्दी विषय में फेल हुए हैं। 
   
बोले विशेषज्ञ
दरअसल, कुछ छात्र सिर्फ विज्ञान, गणित और अंग्रेजी को ही अच्छा और कठिन विषय मानते हैं। ऐसे में पूरा जोर इन्हीं विषयों के लिए होता है। हिन्दी को काफी आसान मानते हैं और उसके बारे में पढ़ते ही नहीं। यही वजह है कि कुछ छात्र हिन्दी विषय जो हमारी मातृभाषा है उसमें भी फेल हो जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि हिन्दी को भी महत्व दें बारीकी से इस विषय की पढ़ाई करें। 
डॉ. पवन गुप्ता, प्रवक्ता, हिन्दी 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:hindi divas special students got more numbers in hindi than science and maths